विदेशी मुद्रा वीडियो ट्यूटोरियल

प्रतिभूति खाते के लिए कौन सा मंच?

प्रतिभूति खाते के लिए कौन सा मंच?

व्यापार प्रतिबंधों की समाप्ति क्या है?

इसे सुनेंरोकेंभारत सरकार ने देश के आयातों पर से सभी वस्तुओं से परिमाणात्मक प्रतिबंधों को समाप्त कर दिया। विश्व व्यापार संगठन के निर्णय प्रतिभूति खाते के लिए कौन सा मंच? के परिप्रेक्ष्य में भारत ने अमेरिका के साथ एक समझौता 29 दिसंबर, 1999 को किया।

जब कोई राज्य ऋण चुकाने से मना कर देता है तो उसे क्या कहते हैं?

इसे सुनेंरोकेंक्या होता है एनपीए यानी अगर किसी लोन की ईएमआई लगातार तीन महीने तक न जमा की जाए तो बैंक उसे एनपीए घोषित कर देते हैं.

प्रतिभूतियों को सूची बंद कौन करता है?

इसे सुनेंरोकेंसभी कंपनियों की प्रतिभूतियों में स्टॉक एक्सचेंज सौदा नहीं करता है। सार्वजनिक सदस्यता के लिए प्रतिभूति जारी करने वाली कंपनी को अपनी प्रतिभूतियों को सूचीबद्ध करने के लिए किसी मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंज में आवेदन करना होता है। यदि अनुमति दी जाती है, तो प्रतिभूतियों को सूचीबद्ध करने के लिए कहा जाता है।

विश्व व्यापार संगठन का मुख्य उद्देश्य क्या है?

इसे सुनेंरोकेंWorld trade organization का मुख्य उद्देश्य विश्व में मुक्त, अधिक पारदर्शी तथा अधिक अनुमन्य व्यापार व्यवस्था को स्थापित करना है. विश्व व्यापार संगठन ठोस कानूनी तंत्र पर आधारित है. इसके समझौतों की सदस्य देशों के सांसदों द्वारा पुष्टि की गई है. विश्व व्यापार संगठन पर किसी एक देश का अधिकार नहीं है.

विश्व व्यापार संगठन का उद्देश्य क्या है?

इसे सुनेंरोकेंविश्व-व्यापार संगठन अपने सदस्य राष्ट्रों के बीच व्यापार तथा इससे संबंधित विवादों के निपटारे से संबंधित नियमों एवं प्रक्रियाओं को प्रकाशित करने का प्रमुख कार्य करता है। विश्व व्यापार संगठन का एक अन्य महत्वपूर्ण कार्य सदस्य राष्ट्रों को व्यापार संबंधी मुद्दों पर विचार-विमर्श करने के लिये साझा मंच प्रदान करना है।

साख से क्या अभिप्राय है?

इसे सुनेंरोकेंसाख शब्द का अर्थ है, वस्तुओं के हस्तांतरण के कारण उत्पन्न भुगतान प्राप्त करने का अधिकार या भुगतान करने के दायित्व का निपटारा मांग पर या एक निश्चित समय के बाद करने की एक Specific method है। जब एक Bank लोगों को ऋण देता है तो वह एक ऋणदाता बन जाता है और वह व्यक्ति जो Bank से ऋण लेता है, ऋणी (Debtor) कहलाता है।

केसीसी एनपीए क्या है?

इसे सुनेंरोकेंकिसानों को केसीसी खातों पर यह प्रक्रिया फसली सीजन के हिसाब से प्रतिवर्ष चलती है। समय से पुराना बकाया न चुकाने वाले किसानों के खातों को बैंक एनपीए कर देती है। ऐसी स्थिति में किसानों को न केवल ब्याज पर दी जाने वाली तीन प्रतिशत छूट खत्म कर दी जाती है। बल्कि अगली फसल के लिए भी ऋण पर रोक लगाई जाती है।

प्रतिभूति से क्या समझते हैं?

इसे सुनेंरोकेंप्रतिभूतियां लिखित प्रमाणपत्र होती हैं जो ऋण लेने के बदले दी जाती है। इनमें जारी करने के शर्र्तों एवं मूल्यों का उल्लेख होता है तथा इनका क्रय-विक्रय भी किया जाता है। सरकार द्वारा जारी किया जाने वाला बॉन्ड, तरजीही शेयर, ऋण पत्र आदि प्रतिभूतियों की श्रेणी में आते हैं। यह कार्य सरकार द्वारा किया जाता है।

प्रतिभूति ऋण क्या है?

इसे सुनेंरोकेंऋण प्रतिभूतियां अहर्ता प्राप्त इकाइयों द्वारा निर्गत की जाती है जो इन साधनों द्वारा निवेशकों से उधार लेती हैं। इसलिए ऋण प्रतिभूतियों पर संस्था की संपत्ति के आधार पर निश्चित प्रभार रहता है। कंपनी की चल और अचल संपत्तियों की प्रतिभूति के कारण सामान्यत: ये सुरक्षित मानी जाती है।

इसे सुनेंरोकें(i) इसका मुख्य उद्देश्य विश्व के देशों के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को इस प्रकार संचालित करना है कि उसमें समानता हो, खुलापन हो और वह बिना किसी भेदभाव के हो। (ii) विश्व व्यापार संगठन व्यापार के झगड़ों को प्रतिभूति खाते के लिए कौन सा मंच? निपटाता है। (iii) विश्व व्यापार संगठन विकसित तथा अल्पविकसित देशों को प्रशिक्षण तथा तकनीकी सहायता प्रदान करता है ।

GATT क्या है in Hindi?

इसे सुनेंरोकेंGATT: General Agreement on Tariffs and Trade हिंदी में गैट का फुल फॉर्म शुल्क और व्यापार पर सामान्य समझौता है।

कौन सा संगठन निर्यात व्यापार को बढ़ावा देता है?

इसे सुनेंरोकें’विश्व व्यापार संगठन (वर्ल्द ट्रेड ऑर्गनाइजेशन/डब्ल्यूटीओ) अंतरराष्ट्रीय संगठन है जो विश्व व्यापार के लिए नियम बनाता है।

विदेश व्यापार के उदारीकरण से आप क्या समझते हैं?

इसे सुनेंरोकेंउदारीकरण का अर्थ ऐसे नियंत्रण में ढील देना या उन्हें हटा लेना है, जिससे आर्थिक विकास को बढ़ावा मिले। उदारीकरण में वे सारी क्रियाएँ सम्मिलित हैं, जिसके द्वारा किसी देश के आर्थिक विकास में बाधा पहुँचाने वाली आर्थिक नीतियों, नियमों, प्रशासनिक नियंत्रणों, प्रक्रियाओं आदि प्रतिभूति खाते के लिए कौन सा मंच? को समाप्त किया जाता है या उनमे शिथिलता दी जाती है।

अंतर्राष्ट्रीय व्यापार क्या है अंतर्राष्ट्रीय व्यापार के पक्ष और विपक्ष में तर्क दीजिए?

इसे सुनेंरोकेंपरिणामस्वरूप वस्तुओं का बड़े पैमाने पर अर्थव्यवस्थाओं के साथ कम कीमत पर बड़ी मात्रा में उत्पादन किया जाता है। मक्कोनल के शब्दों में, “अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार का ऐसा साधन है जिसके द्वारा राष्ट्र अपने संसाधनों की उत्पादकता में वृद्धि कर सकते हैं और इससे बड़े उत्पादन का एहसास हो सकता है।”

GATT को कब समाप्त किया गया?

इसे सुनेंरोकेंGATT का समापन वर्ष 1947 में हुआ था और अब इसे GATT 1947 के रूप में संदर्भित किया जाता है। GATT 1947 को 1996 में समाप्त कर दिया गया एवं डब्ल्यूटीओ ने इसके प्रावधानों को GATT 1994 में एकीकृत कर दिया।

एक्जिम बैंक के सीईओ कौन है?

इसे सुनेंरोकेंश्री यदुवेन्द्र माथुर ने फरवरी 2014 में तीन साल के कार्यकाल के लिए अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक का कार्यभार संभाला था। श्री डेविड रस्कीना को अगस्त 2017 से एक्ज़िम बैंक का प्रबंध निदेशक नियुक्त किया गया।

एक्जिम बैंक से क्या समझते हैं?

इसे सुनेंरोकेंएक्जिम बैंक आयातकों और निर्यातकों को वित्तीय सहायता प्रदान करता है। यह प्रधान वित्तीय संस्था के रूप में देश के अंतरराष्ट्रीय व्यापार को बढ़ावा देने के लिए सामान और सेवा के आयात और निर्यात को वित्तीय सहायता देने वाले संस्थाओं के कार्य को समायोजित करने का कार्य करता है।

वटो के अध्यक्ष कौन है?

इसे सुनेंरोकेंनाइजीरिया की एन्गोज़ी ओकोंजो-इवेला (Ngozi Okonjo-Iweala) को विश्व व्यापार संगठन (World Trade Organisation- WTO) का महानिदेशक नियुक्त किया गया है।

अब आप BSE पर भी कर सकेंगे सोने की खरीद-बिक्री, मिलेंगी ये खास सुविधाएं

बीएसई को अपने प्लेटफॉर्म पर इलेक्ट्रॉनिक गोल्ड रिसीप्ट (Electronic Gold Receipt (EGR)) की शुरुआत करने की अनुमति मिल चुकी है.

अब आप BSE पर भी कर सकेंगे सोने की खरीद-बिक्री, मिलेंगी ये खास सुविधाएं

TV9 Bharatvarsh | Edited By: Neeraj Patel

Updated on: Oct 25, 2022 | 1:47 PM

Gold Trading on BSE : अब आप BSE ने अपने प्लेटफ्रॉम पर इलेक्ट्रॉनिक गोल्ड रिसिप्ट (Electronic Gold Receipt) की शुरूआत कर दी है. जिससे अब आप आसानी से बीएसई पर सोने की खरीद-बिक्री कर सकेंगे. क्योंकि इसके लिए पूंजी बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) से बीएसई को अपने प्लेटफॉर्म पर इलेक्ट्रॉनिक गोल्ड रिसीप्ट (Electronic Gold Receipt (EGR)) की शुरुआत करने की अनुमति मिल चुकी है. बता दें कि देश के प्रमुख शेयर बाजार बीएसई ने अपने मंच पर इलेक्ट्रॉनिक गोल्ड रिसिप्ट (ईजीआर) की पेशकश की है, जिससे इस बहुमूल्य धातु की प्रभावी और पारदर्शी कीमत का पता लगाने में मदद मिलेगी. एक्सचेंज ने एक बयान में कहा कि उसने दिवाली पर मुहूर्त कारोबार के दौरान 995 और 999 शुद्धता के दो नए उत्पाद पेश किए हैं. इसके तहत कारोबार एक ग्राम के गुणकों में और आपूर्ति 10 ग्राम तथा 100 ग्राम के गुणकों में होगी.

बता दें कि पिछले महीने एक्सचेंज को भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने ईजीआर पेश करने की अंतिम मंजूरी दी थी. इसके बाद यह घोषणा की गई. बीएसई इसके लिए कई बार मॉक ट्रेडिंग भी कर चुका है ताकि इसकी क्षमता का आंकलन किया जा सके. ईजीआर के जरिये सोने में ट्रेडिंग दिवाली से शुरू हो गई. यहां आप शेयरों की तरह ही सोने की खरीद बिक्री कर सकेंगे. इसके लिए आपके पास डीमैट अकाउंट (Demat Account) होना जरूरी है, इसके लिए अलग से कोई खाता खुलवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

ईजीआर के जरिये हर तरह के बाजार प्रतिभागी (Market Participants) जैसे व्यक्तिगत निवेशक, आयातक, बैंक, रिफाइनर्स, सर्राफा कारोबारी, आभूषण बनाने वाले और खुदरा विक्रेता सोने की खरीद बिक्री कर सकेंगे. शेयरों की तरह ही बीएसई पर किसी खास समय पर सोने की कीमत दिखेगी. अगर आप सोना खरीदना या बेचना चाहते हैं तो अपनी मर्जी से आप गोल्ड की खरीद-बिक्री कर सकेंगे. खरीदा गया सोना आपके डीमैट खाते में जमा हो जाएगा.

बीएसई पर बेच सकेंगे घर में रखा सोना

अगर आप सोना खरीदना चाहते हैं तो इसके लिए आपको बीएसई के डिलीवरी सेंटर पर जाना होगा. फिर, इस भौतिक सोने (Physical Gold) से आप आभूषण बनवाएं या इसे बार या क्वाइन के तौर रखें, यह आपकी अपनी मर्जी होगी. आप अपने घर में रखा सोना भी बीएसई पर बेच सकेंगे. बीएसई ने इसके लिए ब्रिंक्स इंडिया और सिक्वेल लॉजिस्टिक्स के साथ समझौता किया है. आपको इसकी शाखा में जाकर फिजिकल गोल्ड जमा करवाना होगा जो ईजीआर के रूप में आपके डीमैट खाते में आ जाएगा.

ये भी पढ़ें

अपने क्रेडिट कार्ड से UPI पेमेंट कैसे करें, 5 स्टेप्स में समझें पूरा प्रोसेस

अपने क्रेडिट कार्ड से UPI पेमेंट कैसे करें, 5 स्टेप्स में समझें पूरा प्रोसेस

25 अक्टूबर 2022 की बड़ी खबरें: ऋषि सुनक ब्रिटेन के पीएम नियुक्त, भारत के कई शहरों में दिखा सूर्य ग्रहण

25 अक्टूबर 2022 की बड़ी खबरें: ऋषि सुनक ब्रिटेन के पीएम नियुक्त, भारत के कई शहरों में दिखा सूर्य ग्रहण

पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में एफडी से बेहतर मिलेगा रिटर्न, इतने फीसद मिल रहा ब्याज

पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में एफडी से बेहतर मिलेगा रिटर्न, इतने फीसद मिल रहा ब्याज

अगर गलती से ब्लॉक हो गया है एटीएम कार्ड, तो ऐसे करें अनब्लॉक

अगर गलती से ब्लॉक हो गया है एटीएम कार्ड, तो ऐसे करें अनब्लॉक

क्या होता है ईजीआर?

EGR यानी इलेक्ट्रॉनिक गोल्ड रिसीप्ट अन्य प्रतिभूतियों जैसा ही होगा. इसकी ट्रेडिंग क्लियरिंग और सेट्लमेंट भी दूसरी प्रतिभूतियों (Securities) की तरह किया जा सकेगा. अभी भारत में सिर्फ गोल्ड डेरिवेटिव्स (Gold Derivatives) और गोल्ड ईटीएफ (Gold ETF) का कारोबार होता है जबकि दूसरे देशों में गोल्ड में भौतिक कारोबार के लिए स्पॉट एक्सचेंज हैं. सेबी ने भी भारत में गोल्ड स्पॉट एक्सचेंज का रास्ता साफ कर दिया है. गोल्ड की खपत (Gold Consumption) के मामले में भारत दुनिया का दूसरा सबसे देश है.

प्रतिभूति खाते के लिए कौन सा मंच?

thumbs-up

Q. Consider the following statements with reference to ‘Retail Direct Scheme’ recently in the news:Which of the statements given above is/are correct?Q. हाल ही में चर्चा में रही 'खुदरा प्रत्यक्ष योजना' के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:उपर्युक्त कथनों में से कौन सा/से सही है/हैं?

Q. Consider the following statements with reference to ‘Retail Direct Scheme’ recently in the news:

Which of the statements given above is/are correct?

Q. हाल ही में चर्चा में रही 'खुदरा प्रत्यक्ष योजना' के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:

Money: छोटे निवेशक भी सरकारी बॉन्ड में कर सकेंगे डायरेक्ट निवेश, RBI ने दी सहमति

Government bond: भारत ऐसा करने वाला एशिया में पहला देश होगा और दुनिया में कुछ ही देशों में इसकी इजाजत है. आरबीआई के इस कदम से सरकार को लोन लेने के लिए एक बड़ा साधन मिल जाएगा.

आरबीआई ने सरकार के लिए उधार लेने का एक बड़ा और अनलिमिटेड रास्ता खोल दिया है.(पीटीआई)

Government bond: आम और खुदरा निवेशकों के लिए अच्छी खबर है. भारतीय रिजर्व बैंक ने छोटे निवेशकों को सरकारी बॉन्ड में सीधे निवेश करने की सुविधा देने का ऐलान कर दिया है. रिजर्व बैंक (RBI) ने शुक्रवार को कहा कि वह उन्हें सरकारी बॉन्ड सीधे खरीदने की इजाजत देगा. पीटीआई की खबर के मुताबिक, भारत ऐसा करने वाला एशिया में पहला देश होगा और दुनिया में कुछ ही देशों में इसकी इजाजत है. आरबीआई के इस कदम से सरकार को लोन लेने के लिए एक बड़ा साधन मिल जाएगा.

लोन मार्केट का विस्तार होगा (Loan market will expand)
खबर के मुताबिक, अगले वित्त वर्ष में सरकार की तरफ से 12 लाख करोड़ रुपये के उधारी लक्ष्य को पूरा करने के मद्देनजर केंद्रीय बैंक को उम्मीद है कि इस कदम से खासतौर से गिल्ट बाजार और व्यापक रूप से लोन मार्केट का विस्तार होगा. इस तरह, आरबीआई ने सरकार के लिए उधार लेने का एक बड़ा और अनलिमिटेड रास्ता खोल दिया है, जैसा प्रतिभूति खाते के लिए कौन सा मंच? कि अभी घरेलू शेयर बाजार में किया जाता है. हालांकि, अंतर यह है कि ऐसा आरबीआई की निगरानी में होगा.

अभी है यह व्यवस्था (current rule for investment in Government bond)
इस समय आरबीआई छोटे निवेशकों को बीएसई और एनएसई (BSE and NSE) पर गोबिड मंच के जरिए सरकारी बॉन्ड (Government Bond) खरीदने की इजाजत देता है. आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक नीति की घोषणा करते हुए कहा कि सरकारी प्रतिभूतियों में खुदरा भागीदारी बढ़ाने और पहुंच को आसान बनाने के लिए प्रयास किए गए हैं.

सीधे ऑनलाइन पहुंच देने का फैसला (Decide to give direct online access)
इसके तहत एग्रीगेटर मॉडल से आगे बढ़ने और खुदरा निवेशकों को आरबीआई के साथ गिल्ट प्रतिभूति खाता (रिटेल डायरेक्ट) खोलने की सुविधा के साथ सरकारी प्रतिभूति बाजार- प्राइमरी और सेकेंडरी, दोनों बाजारों में सीधे ऑनलाइन पहुंच देने का फैसला किया गया है. अभी ब्रिटेन, ब्राजील और हंगरी में छोटे निवेशकों को सरकारी प्रतिभूति सीधे खरीदने-बेचने की छूट है. इस पर थर्ड पार्टी के जरिए कंट्रोल रखा जाता है.

ज़ी बिज़नेस LIVE TV यहां देखें

Zee Business App: पाएं बिजनेस, शेयर बाजार, पर्सनल फाइनेंस, इकोनॉमी और ट्रेडिंग न्यूज, देश-दुनिया की खबरें, देखें लाइव न्यूज़. अभी डाउनलोड करें ज़ी बिजनेस ऐप.

Demat Account Kya Hota Hai Hindi Mein Bataen

Demat Account Kya Hota Hai Hindi Mein Bataen

Demat Account Kya Hota Hai Hindi Mein: पहली बार जब आप बॉन्ड, स्टॉक, शेयर या अन्य वित्तीय (financial) प्रतिभूतियों (securities) में invest करने की सोचते हैं, तो आपके पास कोई डीमैट अकाउंट होना जरूरी है। हो सकता है आपको न पता हो कि डीमैट अकाउंट का अर्थ क्या होता है (Demat Account Kya Hota Hai Hindi) या जब आप किसी भी वित्तीय प्रतिभूतियों को खरीदते हैं, बेचते हैं या व्यापार करते हैं तो यह आपकी मदद कैसे कर सकता है।

Demat Account Kya Hota Hai in Hindi Mein Bataen | (What is demat account in hindi)

Demat account ऋण के रूप में अपनी वित्तीय (financial) प्रतिभूतियों (securities) को नियंत्रित करता है। अपने इन्वेस्टमेंट के physical record को पकड़ने के बजाय वे इलेक्ट्रॉनिक रूप में एक डीमैट अकाउंट में संग्रहीत हैं। आप credit, debit और बैलेंस देखने के लिए अपने बैंक खाते की तरह अपने डीमैट खाते का इस्तेमाल कर सकते हैं।

एक इन्वेस्टर विभिन्न वित्तीय (financial) प्रतिभूतियों (securities) को नियंत्रित कर सकता है जैसे प्रतिभूति खाते के लिए कौन सा मंच? कि – शेयर, स्टॉक, प्रारंभिक सार्वजनिक प्रस्ताव, ई-गोल्ड, बॉन्ड, गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर, सरकारी प्रतिभूतियां, एक्सचेंज ट्रेडेड फंड, म्यूचुअल फंड आदि आप जीरो बैलेंस के साथ भी एक डीमैट अकाउंट खोल सकते हैं।

डीमैट अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं?

डीमैट अकाउंट 3 प्रकार के होते हैं –

  1. रेगुलर डीमैट अकाउंट
  2. रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट
  3. नॉन-रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट

रेगुलर डीमैट अकाउंट

रेगुलर डीमैट अकाउंट सिर्फ उन इन्वेस्टर के लिए उपलब्ध हैं जो भारतीय हैं। रेगुलर डीमैट अकाउंट उन इन्वेस्टर के लिए उपयुक्त है जो अपने खुद के शेयरों से निपटते हैं। रेगुलर डीमैट अकाउंट इन्वेस्टर को शेयरों के तेजी से ट्रांज़ैक्शन करने की इजाजत देता है।

इन्वेस्टर अपने शेयर को रेगुलर डीमैट अकाउंट से दुसरे संस्थानों में ट्रांसफर कर सकते हैं ताकि बिना किसी शुल्क के शेयरों के सभी रिकॉर्ड रेगुलर डीमैट अकाउंट में इलेक्ट्रॉनिक कॉपी के रूप में इकठ्ठा किये जाते हैं। रेगुलर डीमैट अकाउंट सभी बैंकों और डिस्काउंट ब्रोकर द्वारा ऑफर किया जाता है।

उदाहरण के लिए – डिस्काउंट ब्रोकर 5paisa शून्य AMC पर रेगुलर डीमैट अकाउंट मुफ्त ऑफर करते हैं।

रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट

रिपेट्रिएबल (प्रत्यावर्ती) डीमैट अकाउंट NRI के लिए उपलब्ध 2 तरह के डीमैट अकाउंट में से एक है। रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट का विकल्प चुनने वाले NRI को विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम के नियमों का पालन करना होता है।

प्रत्यावर्ती डीमैट अकाउंट NRI को विदेश में फंड ट्रांसफर करने की इजाजत देता है। जबकि, रेगुलर डीमैट अकाउंट धारकों (holders) के विपरीत, प्रत्यावर्ती डीमैट अकाउंट धारकों को डीमैट अकाउंट के साथ अपने NRE (अनिवासी बाहरी) अकाउंट को लिंक करना होता है।

रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट सभी बैंकों और डिस्काउंट ब्रोकरों पर उपलब्ध है। फंड का रिपेट्रिएशन दोनों देशों के नियम पर निर्भर करता है और इस बात पर भी निर्भर करता है कि दोनों देशों की सरकार को उस विशेष व्यक्ति के लिए फंड ट्रांसफर को ब्लॉक करने का कोई इरादा नहीं है।

नॉन-रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट

नॉन-रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट NRI के लिए उपलब्ध दूसरा डीमैट अकाउंट विकल्प होता है। जबकि, नॉन-रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट NRI को विदेश में फंड ट्रांसफर करने की इजाजत नहीं देता है। प्रभावी ऑपरेशन के लिए डीमैट अकाउंट से अपने NRO (नॉन-रेजिडेंट ऑर्डिनरी) सेविंग अकाउंट को लिंक करने के लिए इन्वेस्टर को अपने NRO (नॉन-रेजिडेंट ऑर्डिनरी) सेविंग अकाउंट की जरूरत होती है।

NRI की स्थिति प्राप्त करने से पहले, रेगुलर डीमैट वाले इन्वेस्टर बिना किसी शेयर के भारत छोड़ने के बाद नॉन-रिपेट्रिएबल डीमैट अकाउंट कैटेगरी में ट्रांसफर कर सकते हैं या नए अकाउंट को खोलने का विकल्प चुन सकते हैं।

ऑनलाइन डीमैट खाता कैसे खोलें | Demat account kaise khole in hindi

नीचे ऑनलाइन डीमैट खाता खोलने के लिए कुछ स्टेप दिए गए हैं जिन्हें फॉलो करके आप अपना डीमैट अकाउंट बना सकते हैं –

  1. अपनी पसंदीदा डीपी की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएं।
  2. अपना नाम, फोन नंबर और निवास पूछने वाले फॉर्म को भरें। इसके बाद आपको अपने दिए गये मोबाइल नंबर पर एक OTP प्राप्त होगा।
  3. अगले फॉर्म पर जाने के लिए OTP दर्ज करें। अपने केवाईसी विवरण जैसे – जन्म तिथि, पैन कार्ड, संपर्क विवरण, बैंक खाता विवरण भरें।
  4. अब आपका डीमैट अकाउंट खुल गया है और डीमैट अकाउंट नंबर जैसे विवरण अपने ईमेल और मोबाइल पर प्राप्त हो जाएंगे।

कुछ और भी: एक इन्वेस्टर के पास कई अकाउंट हो सकते हैं। ये अकाउंट एक ही डीपी, या अलग डीपी के साथ हो सकते हैं। जब तक इन्वेस्टर सभी अनुप्रयोगों के लिए kyc विवरण प्रदान कर सकता है, तब तक वे कई डीमैट अकाउंट खोल सकते हैं।

Demat Account Ke Fayde

पिछले कुछ सालो में तकनीकी प्रगति के कारण डीमैट अकाउंट रखने के बहुत सारे फायदे प्राप्त किए हैं जो निम्न हैं –

  • कारोबारी अपनी सुविधा के मुताबिक लेन-देन कर सकते हैं, जिससे यह आसान और समय की बचत करने वाला बन सकता है।
  • लेन-देन रजिस्टर करने के लिए कोई कठिन कागजी कार्रवाई जरूरी नहीं है।
  • शेयर प्रमाण पत्र, बांड, आदि की भौतिक प्रतियों (physical copies) की चोरी, देरी, या धोखाधड़ी का कोई खतरा नहीं है क्योंकि copies को इलेक्ट्रॉनिक रूप में संग्रहीत किया जाता है।
  • ऋण के साथ–साथ इक्विटी इंस्ट्रूमेंट्स रखने के लिए आपके पास एक एकीकृत मंच (integrated platform) है।
  • बोनस, विभाजन, विलय, समेकन आदि के मामले में automatic क्रेडिट डीमैट खाते में पंजीकृत जाते हैं।
  • कई संचार जरूरतों को खत्म करता है प्रत्येक हितधारक (stakeholder) के लिए कंपनी, कारोबारी, इन्वेस्टर से संपर्क करने की जरूरत को हटाने के लिए लेनदेन के बारे में इलेक्ट्रॉनिक अलर्ट के जरिये से सूचित किया जाता है।
  • पते में बदलाव को डिपॉजिटरी प्रतिभागी (Participant) के जरिये से इन्वेस्टर द्वारा इन्वेस्ट की गई हर कंपनी के साथ अपडेट किया जाता है।
  • पहले के विपरीत जब शेयरों का लेन-देन सिर्फ (एक साथ कई) में किया जाता था अब एक शेयर को खरीदा/बेचा जा सकता है ।
  • स्टाम्प ड्यूटी लागतों के हटने से, जो अन्यथा पहले प्रतिभूतियों (securities) के भौतिक अभिलेखों (physical records) से जुड़े थे, कारोबार की लागत में जरूर कमी हुई है।

Demat Account Ke Nuksan

डीमैट अकाउंट कुछ नुक्सान निम्न हैं –

  • आपको तकनीकी जानकारी होनी चहिये।
  • पोर्टफोलियो का लगातार बदलते रहना।
  • Account freezing problem
  • Annual maintenance charge
  • Regular supervision of your demat account
  • High frequency of trading

FAQs on Demat Account Kya Hota Hai Hindi Mein Bataen

Q. डीमैट अकाउंट से क्या होता है?

Demat Account लोगों के द्वारा शेयरों को खरीदने या बेचने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। जिस तरह लोग अपना पैसा बैंक अकाउंट में रखते है ठीक उसी प्रकार लोग डीमैट खाता में अपने शेयर रखते हैं।

रेटिंग: 4.52
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 152
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *