निवेश योजना

ट्रेडिंग कॉइन

ट्रेडिंग कॉइन

WazirX का नाम आपने सोशल मीडिया पर जरूर सुना होगा. ये लोगों के बीच काफी पॉपुलर है. इस क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज से आप INR, US डॉलर, BTC और P2P के जरिए इनवेस्ट कर सकते हैं. WazirX का अपना WRX क्वाइन भी है.

क्रिप्टोकरंसी की ट्रेडिंग से ज्यादा

शीर्ष क्रिप्टोकरेंसी स्पॉट एक्सचेंज

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज वो मंच होते हैं जो ट्रेडर्स को क्रिप्टोकरेंसी, डेरिवेटिव और अन्य क्रिप्टो संबंधी परिसंपत्तियाँ खरीदने और बेचने की क्षमता देते हैं। आजकल, चुनने के लिए काफी क्रिप्टो एक्सचेंज मौजूद है, और एक या दो पहलुओं में उन सभी के अपने फायदे हैं। सर्वोत्तम क्रिप्टो एक्सचेंजों के बारे में अधिक जानें, और वो चुनें जो आपको अपने क्रिप्टो-संबंधी निवेश लक्ष्यों को पहुँचने में मदद करता हो।

2008 में बिटकोइन का श्वेत पत्र जारी होने के साथ क्रिप्टो एक्सचेंज पहली बार उभरना शुरू हुए। जब से मूल क्रिप्टोकरेंसी वैश्विक रूप से लॉन्च हुई है, क्रिप्टो एक्सचेंजों ने क्रिप्टो ट्रेडिंग को कानूनी और अधिक लोगों के लिए सुलभ बनाने के तरीके ढूंढ।

बिटकोइन के जारी होने के बाद के पहले कुछ साल काफी अशांत थे, कई एक्सचेंज विधायी दबाव में गिर गए थे। हालांकि, उस समय के कुछ शीर्ष क्रिप्टो एक्सचेंज आज तक अपनी स्थिति बनाए रखते हुए, दृढ़ रहने और अग्रणी ट्रेडिंग कॉइन बनने में कामयाब रहे।

क्रिप्टो एक्सचेंज पैसा कैसे बनाते हैं?

कई अलग-अलग तरीके हैं जिनसे क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज लाभ कमा सकते हैं। इन सभी तरीकों में लेनदेन प्रसंस्करण के लिए शुल्क लगाना शामिल है।

संभवत: सबसे लोकप्रिय लेनदेन शुल्क प्रतिशत-आधारित ट्रेडिंग कॉइन है: इसका मतलब यह है कि लेनदेन को पूरा करने के लिए एक्सचेंज ट्रेडर से ट्रेड किए गए मूल्य का एक प्रतिशत चार्ज करता है। प्लेटफार्मों के बीच प्रतिशत शुल्क काफी भिन्न होता है, यही कारण है कि एक्सचेंज का चयन करने से पहले खुद से शोध करना आवश्यक है।

कुछ एक्सचेंज एक फ्लैट-फीस चार्ज भी ऑफर करते हैं, जो क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेड की गयी मात्रा की परवाह नहीं करता है लेकिन प्रत्येक सफल लेनदेन के लिए एक निर्धारित राशि लेता है। बड़ी मात्रा में क्रिप्टोकुरेंसी का आदान-प्रदान करने वाले बड़े व्यापारियों के लिए यह एक अच्छा विकल्प हो सकता है, क्योंकि प्रतिशत-आधारित शुल्क शायद फ्लैट चार्ज से अधिक होगा।

डेरिवेटिव्स ट्रेड करने के लिए श्रेष्ठ क्रिप्टो एक्सचेंज

क्रिप्टो डेरिवेटिव्स और एक्सचेंज-ट्रेडेड नोट्स (ETN) विभिन्न क्रिप्टोकरेंसी द्वारा समर्थित संपत्तियां हैं। जैसे-जैसे क्रिप्टोकरेंसी बाजार बढ़ता गया और अधिक ग्राहकों को आकर्षित होना शुरू हुए, एक्सचेंजों ने डेरिवेटिव ट्रेडिंग शुरू की। ऑप्शंस और फ्यूचर्स दो सबसे सामान्य प्रकार के डेरिवेटिव हैं।

दूसरी ओर, ईटीएन असुरक्षित ऋण सेक्योरिटीज होती हैं, जिनके दाम में अंतर्निहित सेक्योरिटीज के सूचकांक का पालन करते हुए उतार-चढ़ाव आता रेहता है। स्टॉक की तरह, ईटीएन एक आकर्षक ट्रेड विकल्प हैं, यही वजह है कि एक्सचेंजों ने उन्हें अपने प्लेटफॉर्म पर पेश करना शुरू कर दिया।

हुओबी ग्लोबल, 2013 में स्थापित, डेरिवेटिव ट्रेड ऑफर करने वाले शीर्ष क्रिप्टो एक्सचेंजों में से एक है। यह प्रत्येक ट्रेड पर 0.04% के टेकर्स शुल्क के साथ एक प्रतिशत शुल्क वसूलता है। हुओबी वैश्विक स्तर पर सबसे लंबे समय से चल रहे क्रिप्टो एक्सचेंजों में से एक है। यह चीन द्वारा बिटकोइन ट्रेडिंग पर बैन लगाने के बाद भी बचा रहा है। प्लेटफॉर्म ने 2017 और 2018 में ट्रेडिंग कॉइन कई अंतरराष्ट्रीय एक्सचेंज लॉन्च किए, जिनमें जापान और सिंगापुर के एक्सचेंज शामिल हैं। ट्रेड किए गए डेरिवेटिव के मामले में हुओबी, बाइनेंस के बाद, दूसरा सबसे बड़ा एक्सचेंज है।

Cryptocurrency: क्रिप्टकरेंसी के बाजार में हरियाली, बिटकॉइन 0.01% और एथेरियम 0.96% मजबूत हुआ

Cryptocurrency

क्रिप्टोकरेंसी के बाजार में गुरुवार की शाम हरियाली दिखी। इस दौरान बिटकॉइन और इथेरियम के साथ अन्य अल्ट कॉइन में भी तेजी दिखी। मेमे कॉइन जैसे डोजकॉइन और शिबा ईनू भी बढ़त के साथ कारोबार करते दिखे।

आज का सबसे ट्रेंडिंग क्रिप्टो फ्रंटियर (FRONT) ट्रेडिंग कॉइन था, जो मल्टी-चेन सपोर्ट के साथ एक विकेन्द्रीकृत वित्तीय DeFi एग्रीगेटर है। Coinmarketcap.com से शाम 4:00 बजे एकत्र किए गए आंकड़ों के अनुसार गुरुवार को वैश्विक क्रिप्टो मार्केट कैप $ 964.2 बिलियन था, जबकि पिछले 24 घंटों में कुल क्रिप्टो मार्केट का वॉल्यूम 7.4 प्रतिशत ट्रेडिंग कॉइन बढ़कर $ 60.8 बिलियन हो गया।

विस्तार

क्रिप्टोकरेंसी के बाजार में गुरुवार की शाम हरियाली दिखी। इस दौरान बिटकॉइन और इथेरियम के साथ अन्य अल्ट कॉइन में भी तेजी दिखी। मेमे कॉइन जैसे डोजकॉइन और शिबा ईनू भी बढ़त के साथ कारोबार करते दिखे।

आज का सबसे ट्रेंडिंग क्रिप्टो फ्रंटियर (FRONT) था, जो मल्टी-चेन सपोर्ट के साथ एक विकेन्द्रीकृत वित्तीय DeFi एग्रीगेटर है। Coinmarketcap.com से शाम 4:00 बजे एकत्र किए गए आंकड़ों के अनुसार गुरुवार को वैश्विक क्रिप्टो मार्केट कैप $ 964.2 बिलियन था, जबकि पिछले 24 घंटों में कुल क्रिप्टो मार्केट का वॉल्यूम 7.4 प्रतिशत बढ़कर $ 60.8 बिलियन हो गया।

इस दौरान सबसे अधिक मजबूती एथेरियम नेम सर्विसेज में दिखी। यह 10.9 फीसदी बढ़कर 17.4 डॉलर पर ट्रेड कर रहा था। सबसे अधिक गिरावट वाला क्रिप्टो टेरा क्लासिक रहा जिसमें 24 घंटों में 2.9 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। यह .000296 पर कारोबार कर रहा था।

सिर्फ 100 रुपये से भी शुरू कर सकते हैं क्रिप्टो में निवेश, ये हैं टॉप ऐप्स

Crypto

  • नई दिल्ली,
  • 24 सितंबर 2021,
  • (अपडेटेड 24 सितंबर 2021, 11:22 AM IST)
  • Cryptocurrency में काफी आसानी से इनवेस्ट किया जा सकता है
  • क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज से आप INR, US डॉलर, BTC और P2P के जरिए इनवेस्ट कर सकते हैं

Cryptocurrency में काफी आसानी से इनवेस्ट किया जा सकता है. इसके लिए काफी ऐप्स मौजूद हैं. इससे आप कई क्रिप्टोकरेंसी जैसे Bitcoin, Ethereum, Dogecoin में इनवेस्ट किया जा सकता है. यहां पर आपको ऐसे ही कुछ ऐप्स के बारे में बता रहे हैं.

WazirX

Cryptocurrency: भारत में Bitcoin या Ethereum नहीं, सबसे ज्यादा खरीदे गए हैं ये कॉइन

मीम क्रिप्टोकरेंसी Dogecoin (DOGE) और Shiba Inu (SHIB) देश के क्रिप्टो एक्सचेंजों पर भारत के सबसे ज्यादा ट्रेडिंग वाले डिजिटल असेट्स (Digital Assets) के रूप में उभरे हैं। ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कॉइनस्विच कुबेर (CoinSwitch Kuber) एक्सचेंज पर, अप्रैल और अक्टूबर 2021 के बीच, Dogecoin का प्लेटफॉर्म के कुल ट्रेडिंग वॉल्यूम का 13.76% हिस्सा था, इसके बाद Ethereum का 6.06%, जबकि Bitcoin 6.04% के साथ तीसरे नंबर पर था।

कॉइनस्विच कुबेर के चीफ बिजनेस ऑफिसर शरण नायर ने कहा, "दिलचस्प बात यह है कि, Dogecoin, जी एक मीम से शुरू हुई एक लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी है, वो पिछले छह महीनों में एक अपट्रेंड पर रहा है, यहां तक ​​​​कि वो सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाने वाले क्रिप्टो, Bitcoin और Ethereum को भी पार कर गया है।"

इन कॉइन को स्टेक कर सकते हैं

इथीरियम होल्डर अपने कुछ कॉइन को स्टेक कर सकते हैं. इसके लिए आपके पास कम के कम 32 इथीरियम होना जरूरी है तभी आप स्टेकिंग के लिए वैलिडेटर हो पाएंगे. इस आधार पर आप डाटा स्टोर कर सकते हैं, ट्रांजेक्शन की प्रोसेसिंग कर सकते हैं और ब्लॉकचेन पर नए ब्लॉक जोड़ सकते हैं. कर्डानो क्रिप्टोकरंसी को भी स्टेक कर कमाई कर सकते हैं. इसके लिए कर्डानो के निवेशक खुद का स्टेकिंग पूल बना सकते हैं. इसी तरह सोलाना की भी स्टेकिंग होती है. इसके लिए निवेशक डिजिटल वॉलेट बनाते हैं. वॉलेट की मदद से निवेशक तय कर सकता है कि कितने सोलाना को स्टेक करना है.

स्टेकिंग से निवेशक को अतिरिक्त कॉइन मिलते हैं जिसकी बाद में ट्रेडिंग करके कमाई की जा सकती है. स्टेक के दौरान भी ब्लॉकचेन की तरफ से ब्याज दिया जाता है. स्टेकिंग के दौरान निवेशक अपने वॉलेट में देख सकते हैं कि उनके क्रिप्टो एसेट में कितने की वृद्धि हो रही है. अगर आप किसी एक्सचेंज के जरिये स्टेकिंग करते हैं तो उसके लिए कुछ शुल्क चुकाना होता है. हालांकि यह फीस स्टेक पर मिलने वाले रिवॉर्ड की तुलना में काफी कम होता है.

रेटिंग: 4.58
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 375
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *