निवेश योजना

फ्यूजन मार्केट प्लेटफॉर्म

फ्यूजन मार्केट प्लेटफॉर्म
क्वालिटी प्रफरेंस है जरुरी

फ्यूजन मार्केट प्लेटफॉर्म

ट्रेडिंग वॉल्यूम के हिसाब से Binance दुनिया का सबसे बड़ा क्रिप्टो एक्सचेंज है, जिसमें अगस्त 2022 तक Binance एक्सचेंज पर $76 बिलियन दैनिक ट्रेडिंग वॉल्यूम और दुनिया भर में 90 मिलियन ग्राहक हैं। प्लेटफॉर्म ने खुद को क्रिप्टो स्पेस के एक विश्वसनीय सदस्य के रूप में स्थापित किया है, जहां यूजर्स अपनी डिजिटल संपत्ति खरीद, बेच और स्टोर कर सकते हैं, साथ ही सूचीबद्ध 350 से अधिक क्रिप्टोकरेंसी और हजारों ट्रेडिंग पेयर्स तक अपनी पहुंच कायम कर सकते हैं। Binance इकोसिस्टम में अब Binance एक्सचेंज, लैब्स, लॉन्चपैड, इंफो, एकेडमी, रिसर्च, ट्रस्ट वॉलेट, चैरिटी, NFT और बहुत कुछ शामिल हैं।

वैश्विक कंपनी की स्थापना चीन में चांगपेंग झाओ और यी हे ने की। एक चीनी-कनाडाई डेवलपर और बिजनेस एक्जीक्यूटिव, चांगपेंग झाओ, जो CZ से संबंधित रहे हैं, कंपनी के सीईओ हैं। उन्होंने मैकगिल यूनिवर्सिटी मॉन्ट्रियल में अध्ययन किया और एक उद्यमी के रूप में उनका ट्रैक रिकॉर्ड सफल रहा है। उनके पिछले अनुभवों को देखें तो वह ब्लूमबर्ग ट्रेडबुक फ्यूचर्स रिसर्च एंड डेवलपमेंट टीम के प्रमुख, फ्यूजन सिस्टम्स के संस्थापक और Blockchain.com में टेक्नोलॉजी के हैड रहे हैं।

Binance कब लॉन्च हुआ?

Binance को जून 2017 में लॉन्च फ्यूजन मार्केट प्लेटफॉर्म किया गया था, और 180 दिनों के भीतर यह दुनिया फ्यूजन मार्केट प्लेटफॉर्म के सबसे बड़े क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज में तब्दील हो गया।

Binance उपयोग की शर्तों के तहत, प्रतिबंधित स्थानों में यूनाइटेड स्टेट्स, सिंगापुर और ओंटारियो (कनाडा) शामिल हैं। हालांकि, कुछ देशों में सीमित उपयोग हो सकता है या फिर नियामक कारणों से फीचर्स सीमित फ्यूजन मार्केट प्लेटफॉर्म हो सकते हैं, जिनमें चीन, मलेशिया, जापान, ब्रिटेन और थाईलैंड शामिल हैं, लेकिन इन्हीं तक सीमित नहीं हैं। फ्यूचर्स और डेरिवेटिव उत्पाद जर्मनी, इटली और नीदरलैंड में भी उपलब्ध नहीं हैं। सितंबर 2019 में, अमेरिकी ग्राहकों के लिए एक अलग डेडिकेटेड प्लेटफॉर्म, Binance.US, लॉन्च किया गया।

Binance फीस कितनी है?

यह प्लेटफॉर्म यूजर्स के अनुकूल है और ट्रांजेक्शन प्रकारों के विशाल सलेक्शन और अनुभवी निवेशकों के लिए ट्रेडिंग टूल्स का एक एडवांस्ड सेट है और इस रूप में काफी सस्ता भी है। नियमित यूजर्स से लेकर VIP 9 तक, यह टियर वाले सिस्टम के आधार पर पैसा लेता है। नियमित यूजर्स से, स्पॉट ट्रेडिंग के लिए 0.10% मेकर-टेकर फीस ली जाती है। जुलाई 2022 में, Binance ने BTC स्पॉट ट्रेडिंग पेयर्स के लिए और अगस्त में ETH/BUSD पेयर के लिए शून्य-फीस ट्रेडिंग की घोषणा की।

ट्रेडर्स फंड उधार ले सकते हैं और Binance Margin पर मार्जिन ट्रेडिंग में भाग ले सकते हैं, जो 10X लीवरेज तक क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग की सुविधा देता है। यूजर्स अपने ट्रेड्स पर लीवरेज के लिए डेरिवेटिव उत्पादों का भी उपयोग कर सकते हैं, जैसेकि Binance Futures, जो USDT, BUSD में सैटल होते हैं या अन्य क्रिप्टोकरेंसी और Binance ऑप्शंस।

आंत्रप्रेन्योर की एक कहानी और सक्सेज मंत्रा

अशमिता भटनागर को फाउंडर चिकनबार्ऩकाम

सोशल सर्विस और बिजनेस का फ्यूजन है सोशल आंत्रप्रेन्योर

अपना काम और उसके साथ समाजसेवा भी हो जाए तो क्या बात। अशमिता ने कॅरियर की कुछ ऐसी ही राह चुनी। उन्होंने लखनऊवी चिकन को ग्लोबल प्लेटफॉर्म दिया। दरअसल, बैंगलोर में आईटी सेक्टर में जॉब के बाद साल 2011 में अशमिता ने खुद का बिजनेस शुरू किया। वह कुछ ऐसा करना चाहती थी जो सोशल सर्विस से जुड़ा हो। इसलिए उन्होंने सोशल आंत्रप्रेन्योर बनने का फैसला किया। इसके लिए उन्होंने लखनवी चिकन की कढ़ाई को चुना। इससे हैंड इम्ब्राइड्री के हुनरमंदों की इकोनॉमिक कंडीशन सुधारने के साथ चिकन को बड़े मार्केट का एक्सपोजर भी मिला। दरअसल आंत्रप्रेन्योर के असली भाव को अशमिता ने आत्मसात किया।

सेबी ने दी नियमों में ढील, OFS को मिलेगा बढ़ावा

मार्केट रेगुलेटर सेबी की तरफ से नियमों में दी गई ढील के बाद ऑफर फॉर सेल (OFS) को बढावा मिल सकता है। ओएफएस यानी बिक्री पेशकश के तहत लिस्टेड कंपनी के प्रमोटरों और अन्य बड़े शेयरधारकों को अपनी मौजूदा शेयरहोल्डिंग पारदर्शी तरीके से घटाने का मौका मिलता है।

इंडस्ट्री प्लेयर्स का कहना है कि ओएफएस रूट ब्लॉक डील (block deals) के एक मजबूत विकल्प के रूप में उभर सकता है क्योंकि प्राइसिंग (pricing) के मामले में इसमें ब्लॉक डील से ज्यादा लचीलापन है।

वर्तमान में, ओएफएस का उपयोग सीमित है क्योंकि मौजूदा नियम केवल प्रमोटरों और 10 प्रतिशत से अधिक हिस्सेदारी रखने वालों को ही इस रूट का लाभ उठाने की अनुमति देते हैं। हालांकि, पिछले हफ्ते सेबी ने ओएफएस फ्रेमवर्क में बड़े बदलाव की घोषणा की। जिसके तहत अब कोई भी शेयरधारक ओएफएस रूट का उपयोग तब तक कर सकता है जब तक वे 25 करोड़ रुपये से अधिक के शेयर बेच रहे हों।

कर्ज वसूलने के लिए और लोन देंगी MFI

कर्ज वसूलने के लिए और लोन देंगी MFI

कंपनियां अब 60,000 रूपये तक का रिपीट लोन दे रही हैं. इस कदम से वास्तविक ग्राहक और कर्ज दबाने वाले लोगों की पहचान सुनिश्चित करने में भी मदद मिलने की उम्मीद है. कुछ कर्जदाता हालांकि इसमें सफल नहीं हो पा रहे हैं.

Loan-

The second largest MFI in terms of outstanding loans expects the cost to income ratio to fall to 40% in two years from 47% at present.

कुछ लोगों को लगता है कि इस तरह का एक्सटेंशन रीपेमेंट कल्चर को ख़राब कर सकता है और कुछ लोग इसका दुरूपयोग कर सकते हैं. इस इंडस्ट्री के एक कारोबारी ने कहा, 'समय से लोन चुकाने की क्षमता रखने वाले कर्ज धारक भी इस सुविधा का लाभ उठाने में जुट गए हैं जिससे कि वे फंड को अधिक समय तक यूज कर सकें.'

इस IPO पर दांव लगाने वाले निवेशकों को लगा झटका, लिस्टिंग के दिन 11 प्रतिशत लुढ़का शेयर

किसी कंपनी के आईपीओ (IPO) पर निवेशक इस उम्मीद के साथ दांव लगाता है कि उसे लिस्टिंग के दिन से ही फायदा मिलना शुरू हो जाएगा। लेकिन इस मामले में फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस (Fusion Micro Finance) का आईपीओ निवेशकों की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाया है। कंपनी ने स्टॉक मार्केट में आज डेब्यू किया है। लेकिन फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस के शेयर 2.06 प्रतिशत की गिरावट के साथ 360.50 रुपये के लेवल पर बीएसई में लिस्ट हुए। दोपहर 12.12 मिनट पर कंपनी के शेयर का भाव 11 लुढ़क कर 327 रुपये के लेवल पर आ गया है। वहीं, प्री-ओपनिंग सेशन में तो कंपनी के शेयरों का और बुला हाल था। तब एक समय फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस के स्टॉक का भाव 32 प्रतिशत तक टूट गया था। बता दें, कंपनी ने आईपीओ के लिए प्राइस बैंड 350 रुपये से 368 रुपये तय किया था।

रेटिंग: 4.48
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 204
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *