ब्रोकर कैसे चुनें

बिटकॉइन में सुरक्षित रूप से निवेश कैसे करें?

बिटकॉइन में सुरक्षित रूप से निवेश कैसे करें?
जिस तरह से स्टॉक एक्सचेंज पर शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं, वैसे ही क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज पर एक निश्चित प्राइस पर क्रिप्टोकरेंसी खरीद सकते हैं और जब मुनाफा मिले तो इसे बेच सकते हैं. (Representative Image)

Cryptocurrency App: बिटकॉइन में सुरक्षित रूप से निवेश कैसे करें? क्रिप्टो में पैसा लगाने के लिए 5 बेस्ट और सुरक्षित ऐप्स, फर्जी ऐप्स से न खाएं धोखा

Cryptocurrency App in india: अगर आप भी क्रिप्टोकरेंसी में पैसा लगाने की सोच रहे हैं, तो जरूरी है कि सुरक्षित ऐप्स का ही इस्तेमाल बिटकॉइन में सुरक्षित रूप से निवेश कैसे करें? किया जाए. यहां हम आपको 5 बेस्ट ऐप्स की लिस्ट बता रहे हैं.

By: ABP Live | Updated at : 20 Jan 2022 08:48 AM (IST)

Best Cryptocurrency Apps India: क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) इन दिनों काफी पॉपुलर हो रही है. यह एक प्रकार की वर्चुअल करेंसी है, जिसकी डिमांड पिछले कुछ दिनों में तेजी से बढ़ी है. कई लोगों ने क्रिप्टो करेंसी में इन्वेस्ट करके मोटी रकम कमा ली है. ऐसे में अगर आप भी Bitcoin, Ethereum, Tether, Shiba या ऐसी ही किसी क्रिप्टो करेंसी में इन्वेस्ट करने की सोच रहे हैं और आपको जानकारी नहीं कैसे और कहां करना है, तो खबर आपके लिए है. यहां हम पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज एप्स (cryptocurrency exchange apps) की लिस्ट लेकर आए है, जिनके जरिए आप क्रिप्टोकरेंसी की कीमत जानने से लेकर इन्हें खरीद और बेच भी सकते हैं.

CoinSwitch
यह सबसे सुरक्षित क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग ऐप्स में से एक है. यहां आप 100 रुपये की शुरुआती निवेश से Bitcoin, Ethereum, Ripple जैसे 100 से ज्यादा क्रिप्टोस खरीद सकते हैं. इसमें सिंपल और यूजर फ्रेंडली इंटरफेस मिलता है. यूजर्स अपनी प्राइवेसी से समझौता किए बिना क्रिप्टोकरेंसी को सुरक्षित रूप से खरीद, बेच और एक्सचेंज कर सकते हैं. ऐप पर क्रिप्टो न्यूज का अपडेट भी मिलता है.

ZebPay App
Zebpay सबसे पुरानी और पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज एप्स में से एक है. आप इस ऐप पर साइन अप करके और मोबाइल नंबर के जरिए पूरी केवाईसी डीटेल्स देकर ट्रेडिंग शुरू कर सकते हैं. इसके अलावा, ऐप रेफर-एंड-अर्न फीचर के साथ आता है. कंपनी के मुताबिक, उनके दुनियाभर में 50 लाख से ज्यादा यूजर्स हैं.

News Reels

CoinDCX
CoinDCX क्रिप्टो इन्वेस्टमेंट शुरू करने के लिए एक बेहतरीन बिटकॉइन क्रिप्टोक्यूरेंसी ऐप है. 7.5 मिलियन से ज्यादा भारतीय यूजर्स इस बिटकॉइन ऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं. इसके जरिए बिटकॉइन (बीटीसी), एथेरियम (ईटीएच), और ऐसी ही टॉप क्रिप्टोकरेंसी में अपना निवेश शुरू कर सकते हैं. आप ऐप पर 200 से ज्यादा ट्रेड कॉइन खरीद या बेच सकते हैं.

Unocoin
यह भी भारत के सबसे पुराने क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज ऐप्स में से एक है. इसका यूजर इंटरफेस काफी सिंपल है और यह ढेर सारे क्रिप्टोकरेंसी को सपोर्ट करता है. ऐप यूजर्स की प्राइवेसी का ख्याल रखता है क्योंकि यह फिंगर आईडी और पासकोड के जरिए से बायोमेट्रिक सिक्योरिटी फीचर्स प्रदान करता है.

WazirX
यह 80 लाख से ज्यादा यूजर्स के साथ भारत का सबसे तेजी से बढ़ने वाला क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज ऐप है. इस सुरक्षित क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज ऐप के जरिए आप बिटकॉइन, रिपल, एथेरियम, ट्रॉन समेत 100 से ज्यादा क्रिप्टोकरेंसी खरीदने और बेचने के लिए का काम कर सकते हैं. इसके सबसे पॉप्युलर फीचर में से एक है कि आप विभिन्न कॉन्टेस्ट में हिस्सा लेकर कॉइन कमा सकते हैं जो ऐप के इंफो सेक्शन पर पाए जा सकते हैं.

Published at : 20 Jan 2022 08:48 AM (IST) Tags: Cryptocurrency Bitcoin bitcoin app Cryptocurrency app हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Technology News in Hindi

कैसे एक परिवार क्रिप्टोकरेंसी को बचाने के लिए उपयोग करता है

हम बच्चों को स्मार्ट और सुरक्षित रूप से कनेक्टेड तकनीक से लाभान्वित करने में मदद करने के लिए यूके, परिवारों को टूल, टिप्स और संसाधनों तक पहुंचाने के लिए उद्योग, सरकार और स्कूलों के साथ मिलकर काम करते हैं।

क्रिप्टोक्यूरेंसी कुछ लोगों के लिए भ्रमित करने वाली है, लेकिन मां जेने - अपने पति और उनकी दो बेटियों के साथ - इसे उनके और उनकी बचत के लिए काम करने का एक तरीका मिल गया है।

क्रिप्टोक्यूरेंसी बचत में शुरुआत करना

Jayne और उसके पति ने सोचा बिटकॉइन में निवेश जब यह पहली बार सुर्खियों में आया था। "हम निवेश करने के बहुत करीब आ गए थे और बहुत अच्छा कर रहे थे, लेकिन एक युवा परिवार के साथ, हमने इसे बाहर बैठना चुना," वह कहती हैं।

कुछ साल बाद, और Jayne ने क्रिप्टोक्यूरेंसी समाचारों का पालन करना जारी रखा। 2018 में, परिवार ने छलांग लगाने और बचाने के लिए क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करने का फैसला किया। जेन कहते हैं, "हमने महीने-दर-महीने आधार पर मामूली निवेश शुरू करने का फैसला किया और देखें कि क्या होता है।"

परिवार ज्यादातर निवेश करता है Bitcoin और Ethereum क्योंकि जेन को लगता है कि ये सबसे स्थिर मुद्राएं हैं। "हमने अन्य कम स्थिर सिक्कों में थोड़ा अधिक सावधानी से निवेश किया है, लेकिन केवल अल्पावधि के लिए," वह कहती हैं।

Jayne अपने मासिक निवेश को CoinBit जैसे मोबाइल ऐप के माध्यम से ट्रैक करती है, जो उसे अपने सिक्कों को खरीदने, स्विच करने और चेक करने की अनुमति देता है। "हमें बड़ी खरीदारी करने के लिए किसी भी फंड का उपयोग करने की आवश्यकता महसूस नहीं हुई है, लेकिन यह अच्छा है कि हमें जिस विकल्प की आवश्यकता हो," वह आगे कहती है।

ब्लॉकचेन का ज्ञान

जबकि जेन का कहना है कि वह क्रिप्टोकुरेंसी में विशेषज्ञ नहीं है, उसे ब्लॉकचैन अवधारणा की व्यापक समझ है और उसका मानना ​​​​है कि यह सुरक्षित है।

नियमित निवेश की तुलना में, Jayne को बचत करने के लिए क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करना सुविधाजनक लगता है। "अगर मैं पूरी तरह से ईमानदार हूं, तो वह सुविधा सबसे ज्यादा अपील करती है," वह कहती हैं। "मैं अपने सोफे के आराम से थोड़ा खर्च कर सकता हूं और . . . यह कुछ बड़ा हो सकता है।"

हालांकि परिवार जानता है कि क्रिप्टोकरेंसी अस्थिर हो सकती है, जेन और उनके पति केवल उन फंडों का निवेश करते हैं जिन्हें वे संभावित रूप से खो सकते हैं। Jayne का कहना है कि यह पारंपरिक जुए के प्रति उनके दृष्टिकोण के समान है।

पूरे परिवार को शामिल करना

जेने क्रिप्टो और एनएफटी के बारे में बात करने में पूरे परिवार को शामिल करता है। यह आंशिक रूप से इसलिए है क्योंकि उसे लगता है कि पर्याप्त नहीं है वित्तीय शिक्षा स्कूलों में युवाओं के लिए।

"हम ज्यादातर चीजों के बारे में अपने बच्चों के साथ काफी खुले हैं, और पैसा निश्चित रूप से एक ऐसी चीज है जिस पर हम नियमित रूप से चर्चा करते हैं," वह कहती हैं। "कुछ अधिक नई क्रिप्टोकरेंसी के अजीब नाम हैं और ये मेमों से संबंधित हैं, [जिसने] हमें क्रिप्टो में निवेश की मूल बातें पर चर्चा करने का एक तरीका दिया है।" वह कहती हैं कि, महत्वपूर्ण रूप से, वे इस बारे में बात करते हैं कि निवेश किए गए पैसे को खोना कितना आसान है।

जेन का कहना है कि परिवार भी शेयर बाजार में निवेश करता है। जैसे, बच्चों को किसी भी वित्तीय संगठन को पैसे सौंपने से पहले उचित परिश्रम करने के महत्व के बारे में बात करने की आदत होती है।

यूके में वर्तमान (अक्टूबर 2022) वित्तीय स्थिति को देखते हुए, जेन को उम्मीद है कि क्रिप्टोक्यूरेंसी बचत से परिवार को मदद मिलेगी। "पाउंड खराब राजनीतिक निर्णय लेने के लिए काफी कमजोर है, और यह हमें खुद को बचाने का एक तरीका देता है," वह कहती हैं। "इसके अलावा, चीजों की भव्य योजना में, यह हमारी आय का केवल एक छोटा सा हिस्सा है, जो भविष्य में हमारे भाग्य को थोड़ा सा सुधार सकता है!"

बचत करने के लिए क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करने की सलाह

उन परिवारों के लिए जो अपने बच्चों को क्रिप्टो को समझने में मदद करना चाहते हैं, जेन की सलाह है: बात करने में बहुत समय बिताना. "हमने खूब बातें कीं। बच्चों को यह बताना महत्वपूर्ण है कि क्रिप्टो पर पैसा खर्च करना कितना जोखिम भरा हो सकता है। हो सकता है कि एक साथ थोड़ा निवेश करें और कुछ हफ्तों में इसे देखें, यह देखने के लिए कि यह कैसे घटता और बहता है, ”वह कहती हैं।

इसके अलावा, जेन का कहना है कि परिवार इसका उपयोग करके समझदार सावधानी बरत सकते हैं प्रसिद्ध और सम्मानित मंच. इसके अतिरिक्त, केवल उस पैसे का निवेश करके बचाने के लिए क्रिप्टोकुरेंसी का उपयोग करें जिसे आप संभावित रूप से खो सकते हैं।

एनएफटी और क्रिप्टोकुरेंसी के बारे में जानें, उपयोग किए गए प्लेटफॉर्म और आप युवाओं को सुरक्षित रूप से निवेश करने में कैसे मदद कर सकते हैं।

Explainer: क्रिप्टोकरेंसी में निवेश क्या घाटे का सौदा है, जानें एक्सपर्ट की राय?

क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency in India) में ज्यादा रिस्क के बावजूद तेजी से मुनाफा और रिटर्न का मिलता है. इसकी वजह भारत में लोग ऐसी करेंसी में अपना पैसा लगा रहे हैं.

क्रिप्टोकरेंसी में होता है खूब उतार-चढ़ाव (फाइल फोटो: Getty Images)

सरबजीत कौर

  • नई दिल्ली ,
  • 07 अक्टूबर 2021,
  • (अपडेटेड 07 अक्टूबर 2021, 4:54 PM IST)
  • क्रिप्टोकरेंसी भारत में भी लोकप्रिय
  • निवेश के लिए कई प्लेटफॉर्म मौजूद

भारत में पिछले कुछ साल में क्रिप्टोकरेंसी को लेकर निवेशकों में काफी ज्यादा उत्साह देखने को मिल रहा है. इसका मुख्य कारण यह है कि अन्य करेंसी के मुकाबले क्रिप्टोकरेंसी में रिस्क के बावजूद निवेश से तेजी से मुनाफा और रिटर्न मिलता है. Bitcoin, Ethereum, Tether, Cardano, Ripple, Polka Dot जैसी कई करेंसी हैं, जहां भारत के लोग अपना पैसा लगा रहे हैं.

आइए जानते हैं कि क्या है क्रिप्टो करेंसी और इसमें निवेश से पहले किन बातों का ध्यान देना जरूरी है? साथ ही यह भी कि एक निवेशक को कितना रिस्क और रिटर्न क्रिप्टों बिटकॉइन में सुरक्षित रूप से निवेश कैसे करें? में निवेश से मिल सकता है?

क्या है क्रिप्टोकरेंसी?

पूरे दुनिया के लोगों या फिर यूं कहें की किसी संस्था को असल में अपनी बेसिक जरूरतों को सही तरीके से पूरा करने के लिए और किसी से भी आपसी लेनदेन करने के लिए करेंसी की जरूरत होती है, जिसे हम मुद्रा भी कहते हैं. हर देश की मुद्रा को हम अलग-अलग नाम से जानते हैं. जैसे कि भारत में रुपया, अमेरिका में डॉलर, सऊदी अरब में रियाल, यूरोपीय देशों में यूरो आदि.

लेकिन क्रिप्टोकरेंसी इन मुद्राओं से अलग होती है. क्रिप्टो वो मुद्रा है जिसे आप देख या छू नहीं सकते जो छुपा हुआ होता है. ये एक प्रकार का डिजिटल रुपया है जिसे आप छू नहीं सकते लेकिन रख सकते हैं, वो भी ऑनलाइन. भौतिक रूप से क्रिप्टोकरेंसी का मुद्रण नहीं किया जाता है. पिछले कुछ सालों में क्रिप्टोकरेंसी लोगों के बीच काफी चर्चा में है. क्रिप्टोकरेंसी कंप्यूटर एल्गोरिद्म पर बनी हुई है. इसका कोई रेगुलेटर नहीं और कोई क्रिप्टोकरेंसी को कंट्रोल नहीं करता.

यानी बाकी किसी मुद्रा की तरह कोई सरकार इसे संचालित नहीं करती. इसके प्रयोग के लिए क्रिप्टोग्राफी का इस्तेमाल किया जाता है. साल 2009 में शुरू होने के बाद क्रिप्टो की कीमत अब आसमान को पार कर रही है. यही कारण है कि निवेशकों को क्रिप्टो में काफी रुचि होने लगी है. अब 1000 से ज्यादा क्रिप्टोकरेंसी में कारोबार हो रहा है.

क्रिप्टोकरेंसी को आप कैसे खरीद या बेच सकते हैं?

आज की तारीख में क्रिप्टोकरेंसी की लोकप्रियता को देखते हुए पूरी दुनिया में बहुत सारे क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज प्लेटफॉर्म हैं. क्रिप्टोकरेंसी की खास बात यह है कि इसमें चौबीसोंं घंटे कारोबार होता है. शेयर बाजार की तरह यह हर दिन एक तय समय पर बंद नहीं होता. इसमें निवेश से आप हफ्ते में या दिन में किसी भी समय रकम निकाल, डाल सकते हैं और खरीद-बिक्री कर सकते हैं. भारत में कॉइनस्विच कुबेर, कॉइन्डिसिएक्स, वज़ीरएक्स, ज़ेबपे जैसे प्लैटफॉर्म के नाम से शामिल है जिनके जरिए आप क्रिप्टो में खरीद-बिक्री कर सकते हैं.

इसकी खरीद-बिक्री के लिए प्रक्रिया काफी आसान है. आपको किसी भी ऑनलाइन ट्रांजेक्शन की तरह साइन-अप करना होगा. उसके बाद केवाईसी अपडेट कर आपको अपने वॉलेट से उसमें मनी ट्रांसफर करना होगा. साथ ही, क्रिप्टो खरीदारी करने से पहले आप जैसे शेयर्स में स्टॉपलॉस या टार्गेट तय करते हैं उसी प्रकार क्रिप्टो में प्रि-डिसाइड लिमिट तय कर सकते हैं.

आप किसी भी छोटे अमाउंट से खरीद-बिक्री शुरू कर सकते हैं. लेकिन, दिक्कत यह है कि कई बैंक ऐसे एक्सचेंज के साथ काम करने के लिए तैयार नहींं हैं, यही कारण है कि, खरीद-बिक्री में दिक्कत होती है. क्रिप्टो में बैंकों द्वारा पी2पी यानी पर्सन टू पर्सन ट्रांजेक्शन और लेनदेन की प्रक्रिया होती है. क्रिप्टो ट्रांजेक्शन के लिए अभी यूपीआई सपोर्ट नहीं करता, इसलिए पी2पी के जरिए ही लेन-देन किया जा सकता है. क्रिप्टोकरेंसी में निवेश से आप कुछ खरीद नहीं सकते है. ये सोने और चांदी की तरह आपको वैल्यू क्रिएट और बढ़ाने का एक माध्यम है.

क्रिप्टो में निवेश से पहले किन बातों का रखें ध्यान

क्रिप्टो में निवेश से पहले हमेशा यह ध्यान रहे कि किसी तरह के लालच में आकर ज्यादा पैसे एक साथ न लगाएं. क्रिप्टो एक वोलाटाइल यानी उतार-चढ़ाव वाला एसेट क्लास है. ऐसे में क्रिप्टो में कभी भी बिना किसी चेतावनी के गिरावट देखने को मिल सकती है और भारी नुकसान हो सकता है, क्योंकि, अभी तक क्रिप्टो को लेकर कोई रेगुलेटर नहीं बना, ऐसे में पैसा डूबने का खतरा हो सकता है.

हमेशा किसी ऑथेन्टिक या किसी नामी प्लेटफॉर्म के जरिए ही क्रिप्टो में पैसा लगाएं. सही चुनाव करना बहुत जरूरी है. साथ ही, किसी अच्छे जानकार की मदद लें ताकि आपको ये पता रहे कि आप किस क्रिप्टो में पैसा लगा रहे हैं. फिलहाल सबसे ज्यादा लोग बिटकॉइन खरीद रहे है. लेकिन इसके अलावा बाजार में Ethereum, Cardano, Dogecoin, Ripple और Litecoin जैसे क्रिप्टोकरेंसी में भी आप पैसा लगा सकते हैं.

सबसे अहम बात है कि, बिना सोचे-समझे कभी भी निवेश न करें. आज की तारीख में हर कोई कम समय में ज्यादा कमाने के लिए क्रिप्टो में पैसा लगा रहा है. लेकिन जब तक आपको क्रिप्टो की पूरी जानकारी न हो आप इसमें पैसा न लगाएं. अपनी प्लानिंग हमेशा फैक्ट्स से जोड़ें और तभी निवेश करें.

कॉइनडीसीएक्स (CoinDCX) के एक्जीक्यूटिव वीपी (ग्रोथ एंड स्ट्रैटेजी) मृणाल ठकराल का मानना है कि-‘क्रिप्टो प्रारंभिक अवस्था में है लेकिन एक उभरता हुआ संपत्ति वर्ग बन गया है. यह देखते हुए कि इस क्षेत्र में कीमतों में उतार-चढ़ाव है, पहली बार निवेश करने वाले निवेशकों को किसी परियोजना में निवेश करने से पहले सावधान रहने की जरूरत है. एक निवेशक को अपना उचित शोध करना चाहिए और परियोजना के विभिन्न पहलुओं को समझना चाहिए. किसी परियोजना के टोकन, टोकनोमिक्स की उपयोगिता जैसे कारकों को समझना और यह समझना कि परियोजना का उद्देश्य किसी विशेष समस्या को कैसे हल करना है, महत्वपूर्ण है. एक निवेशक अपने धन के एक छोटे से हिस्से से शुरुआत कर सकता है और लंबी अवधि की मानसिकता के साथ निवेश कर सकता है.

मुद्रेक्स (Mudrex) के सीईओ एवं को-फाउंडर एडुल पटेल का कहना है कि- ‘किसी भी तरह के एसेट क्लास में निवेश से पहले डाइवर्सिफिकेशन का ध्यान देना जरूरी होता है. हर व्यक्ति के लिए ये जरूरी है कि एक साथ पूरा पैसा कभी भी क्रिप्टो में न लगाएं. कई रिटेल निवेशक आज की तारीख में ये सोचते हैं कि वो क्रिप्टो में पैसा लगाकर बहुत जल्द अमीर बन जाएंगे, तो ऐसा नहीं है. ऐसे निवेशकों को अक्सर भारी नुकसान उठाना पड़ता है. साथ ही, 4-7 फीसदी ही पैसा क्रिप्टो में लगाएं उससे ज्यादा नहीं. अगर किसी व्यक्ति के पास 1000 रुपये हैं तो वो सिर्फ 40 से 70 रुपये ही क्रिप्टो में निवेश करें. रिटर्न की बात करें तो क्रिप्टो में अगर समझदारी से निवेश किया जाए तो एक व्यक्ति हर महीने 4-5 फीसदी तक का रिटर्न प्राप्त कर सकता है. साथ ही, सालाना 60 फीसदी तक का भी रिटर्न मिलने की संभावना होती है.’

बैंक बाजार (bankbazaar) के सीईओ आदिल शेट्टी के मुताबिक- ‘किसी भी प्रकार के निवेश से पहले अच्छी तरह से रिसर्च जरूर करें. अगर आप डिजिटल करेंसी में नए हैं तो सबसे पहले ये जानें कि क्रिप्टो करेंसी में डिजिटल की दुनिया में काम कैसे होता है. साथ ही जो ज्यादा नामचीन, अच्छीी करेंसी हैं उसके बारे जानने की कोशिश करें. ऑनलाइन क्रिप्टो कम्युनिटी के लोगों से जुड़ें ताकि आपको सभी क्रिप्टो से जुड़ी खबरों के बारे पता लगता रहे. हमेशा ध्यान दें कि क्रिप्टो करेंसी बहुत वोलाटाइल होता है इसलिए कई बार आपका पैसा एक साथ डूब भी सकता है. कई दिग्गज लोग हैं जिन्होंने एक साथ अपना पैसा बनाया है. ऐसे में हमेशा ध्यान से और सोच समझकर पैसा लगाएं.’

रहना होगा सचेत

हालांकि, यह ध्यान रखने की बात है कि बहुत से लोग इस कारोबार के जरिए अपने काले धन को व्हाइट मनी के रूप में बदलते हैं. क्योंकि क्रिप्टो को कोई रेगुलेटर नहीं कंट्रोल करता, इसलिए लोगों के लिए खरीद-बिक्री में बड़ी आसानी होती है.

क्रिप्टो में निवेश घाटे का सौदा नहीं है लेकिन, बिना रिसर्च और जानकारी के करने पर भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है. इन सबसे हट के देखा जाए तो हमेशा ट्रांजैक्शन करने के लिए क्रिप्टो के पूरे ब्लॉकचेन को समझना पड़ता है. पैसा कमाना कोई बुरी बात नहीं, लेकिन बिना सही जांच, रिसर्च और सलाह से कभी भी किसी भी एसेट क्लास में निवेश नहीं करना चाहिए, चाहे क्रिप्टो करेंसी ही क्यो न हो.

Bitcoin ETF हो गया लॉन्‍च, आप कैसे और कहां कर सकते हैं निवेश-जानिए पूरी डिटेल

अप्रैल 2021 में Bitcoin कीमत 64 हजार डॉलर के पास पहुंच गई।

अमेरिका में Bitcoin का पहला Future बेस्‍ड एक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड शुरू हुआ है। इसकी लॉन्चिंग के साथ ही Bitcoin की कीमत 6 महीने के उच्‍च स्‍तर पर पहुंच गई। ट्रेडर्स का कहना है कि ETF के आने से Cryptocurrency में निवेश बढ़ेगा।

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। अमेरिका में Bitcoin का पहला Future बेस्‍ड एक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड शुरू हुआ है। इसकी लॉन्चिंग के साथ ही Bitcoin की कीमत 6 महीने के उच्‍च स्‍तर पर पहुंच गई। ट्रेडर्स का कहना है कि ETF के आने से Cryptocurrency में निवेश बढ़ेगा।

ProShares Bitcoin Strategy ETF ने अंतरराष्‍ट्रीय एक्‍सचेंज (Intercontinental Exchange) NYSE Arca पर मंगलवार से ट्रेडिंग शुरू की है। US सिक्‍योरिटी एंड एक्‍सचेंज कमिशन ने इसकी इजाजत दी थी। Bitcoin Future कारोबार को कमोडिटी फ्यूचर्स ट्रेडिंग कमिशन देख रहा है जबकि ETF का नियंत्रण SEC के पास है। SEC प्रमुख गैरी जेंसलर ने कहा कि Bitcoin ETF काफी उथलपुथल वाला Asset है। निवेशक को सोच-समझकर निवेश करना चाहिए। Bitcoin की लिस्टिंग के बाद कीमत उछलकर 63337 डॉलर पर पहुंच गई। इसने अब तक 64895 डॉलर का High बनाया है।

सरकारी बैंकों के सीईओ से कल मिलेंगे आरबीआइ गवर्नर, जमा में धीमी वृद्धि पर होगी चर्चा

Bitcoin क्‍या है

बिटकॉइन एक डिसेंट्रलाइज्‍ड डिजिटल मुद्रा है, जिसे जनवरी 2009 में बनाया गया था। बिटकॉइन को एक प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी के रूप में जाना जाता है क्योंकि यह इसे सुरक्षित रखने के लिए क्रिप्टोग्राफी का उपयोग करता है। सभी बिटकॉइन लेनदेन को माइनिंग नामक प्रक्रिया से कम्‍प्‍यूटर की मदद से वेरिफाई किया जाता है। बिटकॉइन किसी भी बैंक या सरकार द्वारा जारी या समर्थित नहीं है। दुनिया के अधिकांश हिस्सों में कानूनी निविदा नहीं होने के बावजूद, बिटकॉइन बहुत लोकप्रिय है और इसने सैकड़ों अन्य क्रिप्टोकरेंसी के लॉन्च को ट्रिगर किया है, जिन्हें सामूहिक रूप से altcoins कहा जाता है। कारोबार के दौरान Bitcoin को आमतौर पर "बीटीसी" कहा जाता है।

Biggest iPhone manufacturing is being bulit near Bangalore says IT Minister Vaishnaw

कैसे खरीद सकते हैं Bitcoin

पारंपरिक मुद्राओं के लिए Bitcoin का लेन-देन किया जा सकता है। डॉलर के मुकाबले इसकी विनिमय दर संभावित निवेशकों को आकर्षित करती है। किसी भी Bitcoin Exchange के जरिए इसे खरीदा जा सकता है। 2019 के अंत में इसकी कीमत 7 हजार डॉलर के आसपास थी। इसके 1 साल बाद यह बढ़कर 29 हजार डॉलर के पास पहुंच गई। अप्रैल 2021 में यह 64 हजार डॉलर के पास पहुंच गई।

SBI hikes MCLR by up to 15 bps

भारत में खरीदारी

भारत में Bitcoin की खरीदारी के लिए कई एक्‍सचेंज हैं। आप डिजिटल पेमेंट करके इसे ले सकते हैं। खरीदारी से पहले आपको KYC अपडेट कराना होगा। इसके लिए Aadhaar और Pan Card लगेगा। Bitcoin की कीमत भले ही ऊंची चल रही है लेकिन आप 500 रुपए से भी इसमें निवेश कर सकते हैं। पेमेंट NEFT, RTGS, Debit या Credit Card के जरिए होगा।

कहां खर्च कर सकते हैं

India exports dip 17 percent t in October, trade deficit widens

कुछ शॉप पर Bitcoin के बदले खरीदारी का ऑफर रहता है। यह ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरह मिल सकता है। आप इंटरनेट पर भी इसे एक्‍सचेंज करके जरिए खरीदारी कर सकते हैं। (Reuters इनपुट के साथ)

(Disclaimer : Cryptocurrency में निवेश से पहले अपने वित्‍तीय सलाहकार की राय जरूर लें। Jagran.com किसी वित्‍तीय घाटे के लिए जिम्‍मेदार नहीं होगा।)

Crypto Currency में निवेश का है इरादा, तो जान लें इनकी ट्रेडिंग पर लगती है कौन-कौन सी फीस

अगर आप क्रिप्टो करेंसी में निवेश की योजना बना रहे हैं तो इनकी ट्रेडिंग के लिए लगने वाली तीन तरह की ट्रांजैक्शन फीस के बारे में जरूर जान लें.

Crypto Currency में निवेश का है इरादा, तो जान लें इनकी ट्रेडिंग पर लगती है कौन-कौन सी फीस

जिस तरह से स्टॉक एक्सचेंज पर शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं, वैसे ही क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज पर एक निश्चित प्राइस पर क्रिप्टोकरेंसी खरीद सकते हैं और जब मुनाफा मिले तो इसे बेच सकते हैं. (Representative Image)

Trading in Crypto Currencies: दुनिया भर में निवेशकों के बीच क्रिप्टो करेंसी में निवेश को लेकर आकर्षण बढ़ रहा है. इसमें क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज के जरिए ट्रेडिंग होती है. इस एक्सचेंज पर मौजूदा मार्केट वैल्यू के आधार पर क्रिप्टो करेंसीज को खरीदा-बेचा जाता है. जहां इनकी कीमत मांग और आपूर्ति के हिसाब से तय होती है. जिस तरह से स्टॉक एक्सचेंज पर शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं, वैसे ही क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज पर एक निश्चित प्राइस पर क्रिप्टो करेंसी खरीद सकते हैं और जब मुनाफा मिले तो बेच सकते हैं. स्टॉक एक्सचेंज की तरह ही क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज पर भी ट्रेडिंग के लिए फीस चुकानी होती है. इसलिए अगर आपने क्रिप्टो करेंसी में निवेश करने की सोच रहे हैं, तो पहले इनकी ट्रेडिंग पर लगने वाली तीन तरह की ट्रांजैक्शन फीस के बारे में जरूर जान लें.

एक्सचेंज फीस

  • क्रिप्टो खरीद या बिक्री ऑर्डर को पूरा करने के लिए एक्सचेंज फीस चुकानी होती है. भारत में अधिकतर क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज का फिक्स्ड फीस मॉडल है, लेकिन ट्रांजैक्शन की फाइनल कॉस्ट उस प्लेटफॉर्म पर निर्भर होती है जिस पर ट्रांजैक्शन पूरा हुआ है. ऐसे में इसे लेकर बेहतर रिसर्च करनी चाहिए कि कौन सा क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज सबसे कम ट्रांजैक्शन फीस ले रहा है.
  • फिक्स्ड फीस मॉडल के अलावा क्रिप्टो एक्सचेंज में मेकर-टेकर फी मॉडल भी है. क्रिप्टो करेंसी बेचने वाले को मेकर कहते हैं और इसे खरीदने वाले को टेकर कहते हैं. इस मॉडल के तहत ट्रेडिंग एक्टिविटी के हिसाब से फीस चुकानी होती है.

नेटवर्क फीस

  • क्रिप्टोकरेंसी माइन करने वालों को नेटवर्क फीस चुकाई जाती है. ये माइनर्स शक्तिशाली कंप्यूटर्स के जरिए किसी ट्रांजैक्शन को वेरिफाई और वैलिडेट करते हैं और ब्लॉकचेन में जोड़ते हैं. एक तरह से कह सकते हैं कि कोई ट्रांजैक्शंन सही है या गलत, यह सुनिश्चित करना इन माइनर्स का काम है. एक्सचेंज का नेटवर्क फीस पर सीधा नियंत्रण नहीं होता है. अगर नेटवर्क पर भीड़ बढ़ती है यानी अधिक ट्रांजैक्शन को वेरिफाई और वैलिडेट करना होता है तो फीस बढ़ जाती है.
  • आमतौर पर यूजर्स को थर्ड पार्टी वॉलेट का प्रयोग करते समय ट्रांजैक्शन फीस को पहले से ही सेट करने की छूट होती है. लेकिन एक्सचेंज पर इसे ऑटोमैटिक एक्सचेंज द्वारा ही सेट किया जाता है ताकि ट्रांसफर में कोई देरी न हो. जो यूजर्स अधिक फीस चुकाने के लिए तैयार हैं, उनका ट्रांजैक्शन जल्द पूरा हो जाता है और जिन्होंने फीस की लिमिट कम रखी है, उनके ट्रांजैक्शन पूरा होने में कुछ समय लग सकता है. माइनर्स को इलेक्ट्रिसिटी कॉस्ट और प्रोसेसिंग पॉवर के लिए फीस दी जाती है.

वॉलेट फीस

  • क्रिप्टो करेंसी को एक डिजिटल वॉलेट में रखा जाता है. यह वॉलेट एक तरह से ऑनलाइन बैंक खाते के समान होता है जिसमें क्रिप्टो करेंसी को सुरक्षित रखा जाता है. अधिकतर वॉलेट में क्रिप्टो करेंसी के डिपॉजिट और स्टोरेज पर कोई फीस नहीं ली जाती है, लेकिन इसे निकालने या कहीं भेजने पर फीस चुकानी होती है. यह मूल रूप से नेटवर्क फीस है. अधिकतर एक्सचेंज इन-बिल्ट वॉलेट की सुविधा देते हैं.
  • क्रिप्टो वॉलेट्स सिस्टमैटिक क्रिप्टो करेंसी खरीदने का विकल्प देते हैं और इसके इंटीग्रेटेड मर्चेंट गेटवे के जरिए स्मार्टफोन व डीटीएस सर्विसेज को रिचार्ज कराया जा सकता है.
    (Article: Shivam Thakral, CEO, BuyUcoin)
    (स्टोरी में क्रिप्टोकरेंसी को लेकर दिए गए सुझाव लेखक के हैं. फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन इनकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेता. निवेश से पहले अपने सलाहकार से जरूर परामर्श कर लें.)

DCX Systems IPO: आईपीओ के पहले ही 40% प्रीमियम पर पहुंचा शेयर, पैसा लगाने वालों को मिल सकता है बंपर रिटर्न

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

रेटिंग: 4.79
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 589
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *