ब्रोकर कैसे चुनें

मुद्रा टेबल

मुद्रा टेबल
Photo:FILE Dollar Vs Rupee

मुद्रा टेबल

एशिया और प्रशांत की विदेशी मुद्राओं के विरुद्ध नेपाली रुपया के लिए विनिमय दरें ऊपर के टेबल में प्रदर्शित हैं। 1 नेपाली रुपया से जितनी विदेशी मुद्रायें खरीद सकते हैं, वह रकम विनिमय दर स्तंभ में प्रदर्शित है। ऐतिहासिक विनिमय दरें देखने के लिए टेबल और ग्राफ़ लिंक पर क्लिक कीजिये।

इस पन्ने को लिंक करें - यदि आप नेपाली रुपया की वर्तमान विनिमय दरों को लिंक करना चाहते हैं, तो नीचे का HTML कॉपी करें तथा अपने पन्ने पर पेस्ट करें।

तालिका स्तंभों के साथ कार्य करें

ग्राहक स्तंभ के अपवाद के साथ, Dataverse में सभी स्तंभ प्रकार Dataverse for Teams में स्तंभ के रूप में उपलब्ध हैं. इस लेख में उस सामग्री को शामिल किया गया है, जिसे आपको Dataverse for Teams में तालिका कॉलम के साथ काम करने की आवश्यकता होगी.

Dataverse for Teams में कॉलम डेटा प्रकारों के बारे में त्वरित अवलोकन के लिए यह वीडियो देखें:

ध्यान दें कि मुद्रा सुविधा हमेशा उस देश के लिए डिफ़ॉल्ट मुद्रा का उपयोग करेगी जिसे Dataverse for Teams परिवेश निर्माण के लिए चुना गया था. इसे बदला नहीं जा सकता है, और अतिरिक्त लेन-देन मुद्राओं या विनिमय दरों को नहीं जोड़ा जा सकता है. हालांकि, आप पूर्ण मुद्रा कार्यक्षमता के लिए Dataverse for Teams से Dataverse में अपग्रेड कर सकते हैं.

उपलब्ध कॉलम के बारे में अधिक जानकारी के लिए, इन Dataverse आलेखों को देखें:

कॉलम बनाना

Dataverse for Teams में कॉलम बनाने का तरीका जानने के लिए यह वीडियो देखें:

  1. बिल्ड टैब पर, सभी देखें का चयन करें, और फिर मुद्रा टेबल तालिकाओं का विस्तार करें.
  2. उस तालिका का चयन करें जिसमें आप कॉलम जोड़ना चाहते हैं, और फिर कमांड बार पर कॉलम जोड़ें चुनें.

तालिका कॉलम बनाना.

कॉलम को जोड़ने और प्रबंधित करने की प्रक्रिया Dataverse की तरह ही है, जिसे इन आलेखों में दर्ज़ किया गया है:

स्तंभ चुनें

Dataverse for Teams में, विकल्प केवल एक तालिका के भीतर एक कॉलम के रूप में बनाया जा सकता है. विकल्प बनाना अन्यथा Dataverse में सेट विकल्प बनाने के समान है. और जानकारी: एक विकल्प सेट बनाएं

परिकलित और रोलअप कॉलम

डेटा कॉलम और रोलअप कॉलम फिलहाल Dataverse for Teams में समर्थित नहीं हैं.

इसे भी देखें

क्या आप हमें अपनी दस्तावेज़ीकरण भाषा वरीयताओं के बारे में बता सकते हैं? एक छोटा सर्वेक्षण पूरा करें. (कृपया ध्यान दें कि यह सर्वेक्षण अंग्रेज़ी में है)

सर्वेक्षण में लगभग सात मिनट लगेंगे. कोई भी व्यक्तिगत डेटा एकत्र नहीं किया जाता है (गोपनीयता कथन).

Dollar Vs Rupee: देश के पास विदेशी मुद्रा का पर्याप्त भंडार, चिंता करने की जरूरत नहींः आर्थिक मामलों के सचिव

Dollar Vs Rupee: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कहा था कि वृहद आर्थिक बुनियाद मजबूत होने से रुपये की स्थिति बेहतर है।

India TV Paisa Desk

Edited By: India TV Paisa Desk
Published on: September 27, 2022 18:01 IST

Dollar Vs Rupee- India TV Hindi

Photo:FILE Dollar Vs Rupee

Highlights

  • मंगलवार को रुपया कुछ सुधरकर 81.58 पर बंद हुआ
  • विदेशी मुद्रा भंडार 16 सितंबर को कम होकर 545.65 अरब डॉलर पर आ गया
  • मार्च, 2022 में यह 607.31 अरब डॉलर था

Dollar Vs Rupee: आर्थिक मामलों के सचिव अजय सेठ ने मंगलवार को विदेशी मुद्रा भंडार में कमी को लेकर चिंता को खारिज करते हुए कहा कि इसे जरूरत से अधिक तूल दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मौजूदा स्थिति से पार पाने के लिये देश के पास विदेशी मुद्रा का पर्याप्त भंडार है। उल्लेखनीय है कि विदेशी मुद्रा भंडार लगातार सातवें सप्ताह घटा है और यह 16 सितंबर को समाप्त सप्ताह में कम होकर 545.65 अरब डॉलर पर आ गया, जबकि मार्च, 2022 में यह 607.31 अरब डॉलर था।

वैश्विक कारण से टूटा रुपया

मुद्रा भंडार में कमी का एक प्रमुख कारण वैश्विक गतिविधियों की वजह से रुपये की विनिमय दर में गिरावट को थामने के लिये रिजर्व बैंक की तरफ से किया गया डॉलर का उपयोग मुद्रा टेबल है। सेठ ने कहा, ‘‘विदेशी मुद्रा भंडार में कमी का कारण विदेशी मुद्रा प्रवाह में कमी और व्यापार घाटा बढ़ना है। मुझे नहीं लगता कि यह कोई चिंता वाली बात है। भारत के पास मौजूदा स्थिति से निपटने के लिये विदेशी मुद्रा का बड़ा भंडार है।’’ डॉलर के मुकाबले रुपया सोमवार को 81.67 के अबतक के सबसे निचले स्तर पर आ गया था। हालांकि, मंगलवार को यह कुछ सुधरकर 81.58 पर बंद हुआ।

राजकोषीय घाटा कम करने का लक्ष्य

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को मुद्रा टेबल कहा था कि वृहद आर्थिक बुनियाद मजबूत होने से रुपये की स्थिति बेहतर है। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले अन्य देशों की मुद्राओं में जिस दर से गिरावट आई है, वह भारतीय रुपये की तुलना में कहीं अधिक है। आर्थिक मामलों के सचिव ने कहा कि सरकार चालू वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा 6.4 प्रतिशत रखने के लक्ष्य पर कायम है और इसे हासिल किया जाएगा। सरकार ने बजट में 2022-23 में 14.मुद्रा टेबल 31 लाख करोड़ रुपये की बाजार उधारी का लक्ष्य रखा है। इसमें से 8.45 लाख करोड़ रुपये चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही अप्रैल-सितंबर मुद्रा टेबल में जुटाने का लक्ष्य है।

Dollar Vs Rupee: देश के पास विदेशी मुद्रा का पर्याप्त भंडार, चिंता करने की जरूरत नहींः आर्थिक मामलों के सचिव

Dollar Vs Rupee: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कहा था कि वृहद आर्थिक बुनियाद मजबूत होने से रुपये की स्थिति बेहतर है।

India TV Paisa Desk

Edited By: India TV Paisa Desk
Published on: September 27, 2022 18:01 IST

Dollar Vs Rupee- India TV Hindi

Photo:FILE Dollar Vs Rupee

Highlights

  • मंगलवार को रुपया कुछ सुधरकर 81.58 पर बंद हुआ
  • विदेशी मुद्रा भंडार 16 सितंबर को कम होकर 545.65 अरब डॉलर पर आ गया
  • मार्च, 2022 में यह 607.31 अरब डॉलर था

Dollar Vs Rupee: आर्थिक मामलों के सचिव अजय सेठ ने मंगलवार को विदेशी मुद्रा भंडार में कमी को लेकर चिंता को खारिज करते हुए कहा कि इसे जरूरत से अधिक तूल दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मौजूदा स्थिति से पार पाने के लिये देश के मुद्रा टेबल पास विदेशी मुद्रा का पर्याप्त भंडार है। उल्लेखनीय है कि विदेशी मुद्रा भंडार लगातार सातवें सप्ताह घटा है और यह 16 सितंबर को समाप्त सप्ताह में कम होकर 545.65 अरब डॉलर पर आ गया, जबकि मार्च, मुद्रा टेबल 2022 में यह 607.31 अरब डॉलर था।

वैश्विक कारण से टूटा रुपया

मुद्रा भंडार में कमी का एक प्रमुख कारण वैश्विक गतिविधियों की वजह से रुपये की विनिमय दर में गिरावट को थामने के लिये रिजर्व बैंक की तरफ से किया गया डॉलर का उपयोग है। सेठ ने कहा, ‘‘विदेशी मुद्रा भंडार में कमी का कारण विदेशी मुद्रा प्रवाह में कमी और व्यापार घाटा बढ़ना है। मुझे नहीं लगता कि यह कोई चिंता वाली बात है। भारत के पास मौजूदा स्थिति से निपटने के लिये विदेशी मुद्रा का बड़ा भंडार है।’’ डॉलर के मुकाबले रुपया सोमवार को 81.67 के अबतक के सबसे निचले स्तर पर आ गया था। हालांकि, मंगलवार को यह कुछ सुधरकर 81.58 पर बंद हुआ।

राजकोषीय घाटा कम मुद्रा टेबल करने का लक्ष्य

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कहा था कि वृहद मुद्रा टेबल आर्थिक बुनियाद मजबूत होने से रुपये की स्थिति बेहतर है। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले अन्य देशों की मुद्राओं में जिस दर से गिरावट आई है, वह भारतीय रुपये की तुलना में कहीं अधिक है। आर्थिक मामलों के सचिव ने कहा कि सरकार चालू वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा 6.4 प्रतिशत रखने के लक्ष्य पर कायम है और इसे हासिल किया जाएगा। सरकार ने बजट में 2022-23 में 14.31 लाख करोड़ रुपये की बाजार उधारी का लक्ष्य रखा है। इसमें से 8.45 लाख करोड़ रुपये चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही अप्रैल-सितंबर में जुटाने का लक्ष्य है।

रेटिंग: 4.73
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 342
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *