रेखांकन और चार्ट

अरूण

अरूण

राजस्थान में भाजपा निकालेगी जनआक्रोश रैलियां: अरूण सिंह

झुंझुनू, 13 नवंबर (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री एवं प्रदेश प्रभारी अरूण सिंह ने कहा कि कांग्रेस सरकार के कुशासन से व्याप्त आक्रोश को जनता में मुखर बनाने के लिए भाजपा राजस्थान के सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में एक साथ जनआक्रोश यात्रा के माध्यम से 200 रथों के जरिए जनसंपर्क कर जन आंदोलन का आगाज करेगी।

अरूण सिंह झुंझुनू जिले के चुड़ैला अरूण में भाजपा प्रदेश कार्यसमिति बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होने कहा कि कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार के कुशासन में राजस्थान में जंगलराज, भ्रष्टाचार एवं कुशासन चरम पर है। अरूण सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा कि कांग्रेस सरकार के तुष्टिकरण के खिलाफ, किसान कर्जमाफी की वादाखिलाफी के खिलाफ, प्रदेश में बड़ी संख्या में हो रहे महिला दुष्कर्म के खिलाफ, भ्रष्टाचार के खिलाफ भाजपा पूरे राजस्थान में जन आक्रोश रैलियां निकालेगी।

उन्होने कहा कि राहुल गांधी तो मॉर्निंग और ईवनिंग वॉक के हिसाब से यात्रा निकाल रहे हैं। जबकि भाजपा की जन आक्रोश यात्रा राजस्थान के सभी 200 विधानसभा अरूण क्षेत्रों में निकलेंगी और 8 करोड़ जनता तक संदेश पहुंचाएंगी। उन्होने कहा कि कांग्रेस के मंत्री अरूण स्वयं कह रहे हैं कि आगामी चुनावों में एक फॉर्चुनर गाड़ी में बैठने की क्षमता के जितने ही विधायक जीतेंगे। कांग्रेस की सिर फुटव्वल सरकार पर इनके मंत्री ही बयानबाजी और हमले कर रहे हैं। इन्हें जनता की समस्याओं से कोई सरोकार नहीं है। यह सर्कस सरकार है।

जन आक्रोश रथ यात्रा की रूप रेखा देते हुए प्रदेश संगठन महासचिव चंद्रशेखर ने बताया कि जन आक्रोश यात्रा के शुभारंभ को लेकर 26 नवंबर को जयपुर में प्रेस वार्ता का आयोजन होगा। 27 नवंबर को सभी जिलों में प्रेस वार्ताओं का आयोजन होगा। 25 से 30 नवंबर तक सोशल मीडिया द्वारा अभियान चलाया जाएगा। 29 नवंबर को जयपुर से प्रदेश स्तरीय रथयात्रा की लॉंचिंग झण्डा दिखाकर की जाएगी। जिला स्तर पर 30 नवंबर को और विधानसभा स्तर पर 1 दिसंबर से रथयात्रा की लॉंचिंग होगी।

उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायत स्तर पर ग्राम चैपालों का 1 से 10 दिसंबर तक आयोजन होगा। प्रदेश स्तरीय पत्रकार वार्ता 11 दिसंबर को होगी। विधानसभा स्तरीय जनआक्रोश रैलियां 13 से 20 दिसंबर तक होंगी। इसके बाद जिला स्तर पर विशाल प्रदर्शन और पैदल मार्च कर ज्ञापन सौंपे जाएंगे।

प्रदेश कार्यसमिति का शुभारंभ भारत माता, श्यामा प्रसाद मुखर्जी एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय के चित्रों पर पुष्पांजलि और दीप प्रज्वलन कर राष्ट्रीय महामंत्री एवं प्रदेश प्रभारी अरूण सिंह, प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां, प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर, प्रदेश सह-प्रभारी विजया राहटकर, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया, उपनेता अरूण अरूण प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़, केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल, कैलाश चौधरी, वरिष्ठ नेता एवं छत्तीसगढ़ के प्रभारी ओमप्रकाश माथुर, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरूण चतुर्वेदी, अशोक परनामी, राष्ट्रीय प्रवक्ता राज्यवर्धन सिंह राठौड़, सांसद कनकमल कटारा, सीपी जोशी, नरेन्द्र खींचड़, प्रदेश महामंत्री दीया कुमारी, संभाग प्रभारी मदन दिलावर ने किया।

प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में राष्ट्रीय एवं प्रदेश पदाधिकारी, राष्ट्रीय एवं प्रदेश कार्यसमिति सदस्य, प्रदेश कोर कमेटी सदस्य, मोर्चों के प्रदेशाध्यक्ष, मोर्चो के राष्ट्रीय पदाधिकारी, मोर्चो के राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य, जिला प्रभारी, सह-प्रभारी, जिलाध्यक्ष, प्रकोष्ठ और विभाग के प्रदेश संयोजक, सांसद, विधायक, जिला प्रमुख, महापौर और विस्तारक योजना संभाग प्रभारी शामिल हुए। प्रदेश कार्यसमिति मंच संचालन प्रदेश महामंत्री एवं सांसद दीया कुमारी और प्रदेश उपाध्यक्ष एवं विधायक चंद्रकांता मेघवाल ने किया।

हिन्दुस्थान समाचार/ रमेश सर्राफ/ ईश्वर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये यहां क्लिक करें।

गेंदबाजी कोच भरत अरूण ने किया खुलासा, बताया कैसे उन्होंने मोहम्मद सिराज के हुनर को पहचाना

नई दिल्ली : भारत के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने कहा है कि तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज वह हैं जिनके पास अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सफल होने के लिए गुस्सा और भूख दोनों हैं। सिराज के पास ऑस्ट्रेलिया का सफल दौरा था क्योंकि उन्होंने तीन टेस्ट मैचों में 13 विकेट लेकर वापसी की थी जिसमें गाबा में चौथे टेस्ट में एक पांच विकेट भी शामिल था। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ श्रृंखला शुरू होने से पहले सिराज ने अपने पिता को खो दिया। लेकिन उन्होंने अपने पिता के सपने को पूरा करने के लिए ऑस्ट्रेलिया में वापस रहने का फैसला किया।

PunjabKesari

गेंदबाजी कोच भरत अरूण ने कहा कि जब मैंने उसे हैदराबाद में देखा। असल में तो मैंने उसे अरूण देखा जब मैं आरसीबी के साथ था और वह नेट बॉलर के रूप में आया था। उस समय मैंने जाकर वीवीएस लक्ष्मण को बताया कि यह युवा गेंदबाज वास्तव में अच्छी गेंदबाजी कर रहा है। मैंने उनसे पूछा कि वह अभी भी हैदराबाद के लिए नहीं खेला है? आप अरूण उसका सही इस्तेमाल कर सकते हैं। उन्होंने अपना सिर हिलाया, लेकिन उस साल वह ज्यादा नहीं खेल पाया।

भरत अरूण ने कहा कि जब मैं हैदराबाद का कोच बना तो मैंने सिराज को फिर से बुलाया। वह तब भी संभावित खिलाड़ियों में नहीं थे। जब मैंने उन्हें फिर से गेंदबाजी करते हुए देखा, तो यह और भी प्रभावशाली था। मैंने सोचा कि यह उस गति और आक्रामकता के साथ गेंदबाजी कर रहा है जैसा मैंने नेट्स में देखा। मैंने उसे फिर से बुलाया तो उसके पास वही जुनून था, इरादे थे और उसने ठीक उसी तरह से गेंदबाजी की जैसा मैंने पहले देखा था। इसके बाद मैंने कहा कि इस युवा खिलाड़ी को जरूर खेलना चाहिए।

आगे सिराज की तारीफ करते हुए अरुण ने कहा कि सिराज के साथ एक और खास बात यह है कि अगर हम उसे कुछ करने के लिए कहेंगे, तो वह वही करेगा, जिस तरह से उसे कहा गया है। बेशक वह अपने खुद के प्रयोगों की कोशिश करेगा और जब वह ऐसा करता है तो उसे समझने के लिए मैं उस पर चिल्लाऊंगा। जब मैं भारतीय टीम में आया तो उसने मुझसे पूछा 'सर आप मुझे कब बुलाएंगे? वह चयनित हो गया और भारत के लिए कुछ मैच खेले सफेद- गेंद का प्रारूप। उसकी सबसे बड़ी ताकत उसका खुद पर भरोसा है। अरूण यही उसकी सबसे बड़ी सफलता है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

2022 वर्ष की आखिरी आखिरी पूर्णिमा को ज़रूर करें ये उपाय, विष्णु जी संग धन की देवी करेंगी उद्धार

2022 वर्ष की आखिरी आखिरी पूर्णिमा को ज़रूर करें ये उपाय, विष्णु जी संग धन की देवी करेंगी उद्धार

Ramal Astrology: कुरा से जानें, कौन हैं आपके आराध्य देव और प्राप्त करें हर खुशी

Ramal Astrology: कुरा से जानें, कौन हैं आपके आराध्य देव और प्राप्त करें हर खुशी

मार्गशीर्ष पूर्णिमा 2022: कुंडली में स्थित चंद्र व शनिदोष कर रहे हैं परेशान तो करें ये काम

मार्गशीर्ष पूर्णिमा 2022: कुंडली में स्थित चंद्र व शनिदोष कर रहे हैं परेशान तो करें ये काम

आज जिनका जन्मदिन है, जानें कैसा रहेगा आने वाला साल

आज जिनका जन्मदिन है, जानें कैसा रहेगा आने वाला साल

डोभाल ने मध्य-एशिया के अपने समकक्षों के साथ की बैठक, आतंकवाद से निपटने के तरीकों पर की चर्चा

राजस्थान सीएम अशोक गहलोत से मिले सफाईकर्मी अरूण के रिश्तेदार, यूपी पुलिस से मांगी सुरक्षा

उत्तर प्रदेश के आगरा में पुलिस हिरासत में सफाईकर्मी अरुण वाल्मीकि की अरूण संदिग्ध मौत के बाद भरतपुर में रहने वाले उनके पांच रिश्तेदारों ने शुक्रवार, 22 अक्टूबर को जयपुर में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात की. इसके बाद उन्होंने उत्तर प्रदेश पुलिस से स्वयं को खतरा बताते हुए सीएम गहलोत से सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की.

रिश्तेदारों का आरोप है कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने शनिवार रात राजस्थान के भरतपुर जिले से उन्हें पकड़ा और चार दिन तक प्रताड़ित किया. भरतपुर से विधायक (राष्ट्रीय लोक दल) और तकनीकी शिक्षा मंत्री सुभाष गर्ग ने मुख्यमंत्री गहलोत के जोधपुर रवाना होने से पहले जयपुर में पीड़ित रिश्तेदारों की उनके साथ बैठक की व्यवस्था करवाई.

अरुण वाल्मीकि की पत्नी भरतपुर से ताल्लुक रखती हैं और आगरा के एक पुलिस थाने के मालखाने से हुई चोरी की घटना में अरुण के संदिग्ध पाए जाने के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने उनके परिवार के सदस्यों को कथित तौर रूप से पकड़ा था.

मंत्री गर्ग ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश पुलिस उन्हें लेकर गई और हिरासत में परेशान किया. अरुण का साला तो ठीक से चल भी नहीं पा रहा है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज उनकी बात सुनी और भरतपुर के पुलिस अधीक्षक से बात की.’’

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने उन्हें हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया है. उन्होंने आगे कहा, "कांग्रेस पीड़ित परिवार के साथ है. अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (अरूण एआईसीसी) की महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने बुधवार को आगरा में अरुण वाल्मीकि के परिवार से मुलाकात की."

अरुण वाल्मीकि सफाई कर्मचारी था, जिस पर आगरा के जगदीशपुरा पुलिस थाने के मालखाने से 25 लाख रुपये की चोरी का आरोप लगा है. पुलिस ने चोरी की राशि बरामद करने के लिए अरुण की निशानदेही पर मंगलवार को आगरा स्थित उसके मकान की तलाशी ले रही थी. उसी दौरान आरोपी अरुण की तबियत खराब हुई और उसकी मौत हो गई. हालांकि, उत्तर प्रदेश पुलिस पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के हवाले से दावा कर रही है अरुण की मौत हार्ट अटैक से हुई है.

अरुण के पांच रिश्तेदारों में से एक ने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश पुलिस की एक टीम शनिवार रात अरुण की तलाश में भरतपुर स्थित उनके घर आई थी. रिश्तेदार के अनुसार, ‘‘हमें अरुण के ठिकाने की जानकारी नहीं थी. पुलिस हमें अपने साथ ले गई और चार दिन तक वहीं रखा. हमें पीटा, अरुण के पकड़े जाने पर भी पैसे की मांग की.’

रिश्तेदार ने कहा, ‘‘हमने मुख्यमंत्री गहलोत को अपनी आपबीती सुनाई. उन्होंने हमसे चिंता नहीं करने को कहा. उन्होंने हमें सुरक्षा का आश्वासन दिया है.’’

सफाई कर्मी की संदिग्ध मौत: आगरा में मृतक के घर पहुंचीं प्रियंका, परिवार ने सुनाया दर्द

नयी दिल्ली, 17 नवंबर (भाषा) तेल शोधन एवं विपणन कंपनी बीपीसीएल के पूर्व चेयरमैन अरूण कुमार सिंह देश की शीर्ष तेल एवं गैस उत्पादक कंपनी ऑयल एंड नैचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) के नए चेयरमैन हो सकते हैं। उनके नाम पर मंजूरी मिल जाती है तो यह पहली बार होगा जब इस पद पर आसीन व्यक्ति की आयु 60 वर्ष से अधिक होगी।

सूत्रों ने बताया कि तेल मंत्रालय द्वारा गठित चयन समिति ने 27 अगस्त को छह उम्मीदवारों का साक्षात्कार लेने के बाद सिंह को चुना है। वह पिछले महीने सेवानिवृत्त हुए थे और अगस्त में हुए साक्षात्कार से पहले ही उन्हें पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस नियामक बोर्ड का प्रमुख चुन लिया गया था।

ओएनजीसी का चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक का नियमित पद अप्रैल 2021 से रिक्त है।

सिंह के चयन पर मुहर लग जाती है तो वह ओएनजीसी की कमान तीन वर्ष के लिए संभालेंगे। तेल मंत्रालय ने आयु से संबंधित मापदंडों में छूट दी थी जिसके बाद सिंह इस पद के लिए योग्य पाए गए।

रेटिंग: 4.22
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 288
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *