नौसिखिया के लिए सर्वश्रेष्ठ ब्रोकर

ब्रिटेन दलाल

ब्रिटेन दलाल
Sanjay Bhandari : हथियार सौदों की दलाली करने वाले एवं कर चोरी के मामलों में आरोपी संजय भंडारी को बड़ा झटका लगा है। ब्रिटेन की अदालत ने भंडारी को ब्रिटेन दलाल भारत प्रत्यर्पित करने की मंजूरी दे दी है। इसे मामले में भारत की जीत हुई है। लंदन स्थित वेस्टमिनिस्टर मजिस्ट्रेट ने भंडारी के प्रत्यर्पण का आदेश दिया है। साथ ही जज ने प्रत्यर्पण के इस मामले को आगे बढ़ाने के लिए देश के गृह मंत्रालय को भी निर्देश जारी किए हैं। भंडारी पर हथियार सौदों में दलाली और कर चोरी करने सहित अन्य आरोप हैं।

शेयरों का मूल्यांकन

एनडीटीवी एक्सक्लूसिव : अलीगढ़ में 200 रु. में लाइसेंस, 250 रु. में इंश्योरेंस बनवा रहे दलाल

ड्राइविंग लाइसेंस केवल 200 रुपये में मिल जाता है। दिल्ली और अलीगढ़ में कई ऐसे दलाल हैं, जो इस दर से ड्राइविंग लाइसेंस आपको बनावा कर दे देंगे। पुलिस की नाक के नीचे हो रहे इस गोरखधंधे में केवल लाइसेंस ही नहीं, गाडियों का इंश्योरेंस कवर भी फर्जी तरीके से तैयार करवाया जा रहा है।

एनडीटीवी संवाददाता सिद्धार्थ पांडे जब अलीगढ़ के आरटीओ दफ्तर पहुंचे तो दलालों ने उन्हें बाहर ही घेर लिया। उन्होंने कहा कि हमारा जो भी काम है वह तुरंत करा देंगे। हमने कहा कि हमें लाइसेंस बनवाना है जल्दी, लेकिन हमारे पास कोई कागजात नही हैं। दलाल ने कहा कि कोई परेशानी नहीं है और हमें बस अपना एक फोटो और पता लिखाना होगा।

दलाल ने इसके लिए हमसे 300 रुपये की मांग की चूंकि हम दो लाइसेंस बनवा रहे थे इसलिए हमने तोलमोल शुरू किया और 200 रुपये प्रति लाइसेंस तय हो गया। दो घंटे बाद एक फर्जी लाइसेंस हमारे हाथ में था। अब हम फिर से दलाल के पास पहुंचे और इस बार फर्जी इंश्योरंस कवर बनाने की बात की। वह भी उसने 250 रुपये में फर्जी तरीके से बनवाकर दे दिया।

आरबीआई ने दी चेतावनी

भारतीय शेयर बाजार पिछले साल अप्रैल ब्रिटेन दलाल के बाद से ही काफी मजबूती देख रहा है और बेंचमार्क में इस अवधि में 80 फ़ीसदी से अधिक की तेजी आई है. इस समय इस रिपोर्ट का आना निवेशकों ब्रिटेन दलाल की चिंता बढ़ा रहा है. भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा है कि शेयरों में तेजी की वजह बाजार में मौजूद अधिक तरलता हो सकती है. इसके साथ ही आरबीआई ने यह चेतावनी भी दी है कि फाइनैंशल सेक्टर की स्थिरता संबंधी चिंताओं पर ध्यान दिए जाने की जरूरत है.

एशियाई निवेशक सावधान

एशियाई निवेशक सावधान

अर्थशास्त्री तनवी गुप्ता जैन ने कहा, "अमेरिका और ब्रिटेन के निवेशक बहुत आशावादी हैं और भारत के मध्यम अवधि की ग्रोथ की क्षमताओं पर ध्यान दे रहे हैं. एशियाई निवेशक भारतीय शेयर बाजार के बढ़ते वैल्यूएशन की वजह से अब सावधानी बरतने लगे हैं."

भारत के शेयर बाजार पर जोर

भारत के शेयर बाजार पर जोर

जैन ने कहा कि भारत में विदेशी संस्थागत निवेशकों का फ्लो जारी है और दिसंबर तिमाही में भारत में विदेशी संस्थागत निवेशकों ने अब तक का सबसे बड़ा निवेश किया है. दुनिया के अन्य उभरते बाजारों की तुलना में भारत पर विदेशी निवेशकों का जोर अधिक है. उन्होंने कहा है कि इसी वजह से नए साल में भी भारतीय शेयर बाजार में तेजी जारी है.

घरेलू निवेशकों की बिकवाली

घरेलू निवेशकों की बिकवाली

अगर बात घरेलू संस्थागत निवेशकों की करें तो वह दिसंबर 2020 तिमाही में शुद्ध रूप से विकवाल बने हुए हैं. शेयर बाजार में खुदरा हिस्सेदारी के मामले में कुछ बदलाव दिखा है, लेकिन पिछले 9 महीने की तुलना में खुदरा निवेशकों की हिस्सेदारी अबी भी निचले स्तर पर ही बनी हुई है.

कोरोना की स्थिति पर नजर

एशियाई निवेशक सावधान

अर्थशास्त्री तनवी गुप्ता जैन ने कहा, "अमेरिका और ब्रिटेन के निवेशक बहुत आशावादी हैं और भारत के मध्यम अवधि की ग्रोथ की क्षमताओं पर ध्यान दे रहे हैं. एशियाई निवेशक भारतीय शेयर बाजार के बढ़ते वैल्यूएशन की वजह से अब सावधानी बरतने लगे हैं."

भारत के शेयर बाजार पर जोर

भारत के शेयर बाजार पर जोर

जैन ने कहा कि भारत में विदेशी संस्थागत निवेशकों का फ्लो जारी है और दिसंबर तिमाही में भारत में विदेशी संस्थागत निवेशकों ने अब तक का सबसे बड़ा निवेश किया है. दुनिया के अन्य उभरते बाजारों की तुलना में भारत पर विदेशी निवेशकों का जोर अधिक है. उन्होंने कहा है कि इसी वजह से नए साल में भी भारतीय शेयर बाजार में तेजी जारी है.

घरेलू निवेशकों की बिकवाली

घरेलू निवेशकों की बिकवाली

अगर बात घरेलू संस्थागत निवेशकों की करें तो वह दिसंबर 2020 तिमाही में शुद्ध रूप से विकवाल बने हुए हैं. शेयर बाजार में खुदरा ब्रिटेन दलाल हिस्सेदारी के मामले में कुछ बदलाव दिखा है, लेकिन पिछले 9 ब्रिटेन दलाल महीने की तुलना में खुदरा निवेशकों की हिस्सेदारी अबी भी निचले स्तर पर ही बनी हुई है.

कोरोना की स्थिति पर नजर

कोरोना की स्थिति पर नजर

भारत में कोरोनावायरस की स्थिति स्थिर होने के बाद विदेशी निवेशकों का भरोसा बढ़ा है. अब वह भारत की अर्थव्यवस्था में अपना भरोसा बढ़ा रहे हैं और भारत की आबादी के हर्ड इम्युनिटी विकसित होने तक वे खर्च और निवेश की रकम भी बढ़ाने में दिलचस्पी ले रहे हैं.

Web Title : dalal streets high valuation is alarming foreign investors report
Hindi News from Economic Times, TIL Network

ब्रिटेन दलाल

प्र 43 इस तरह के रूप में इलाज व्यक्तियों को शामिल करने के लिए एजेंट. किसी भी द्वारा या के बाहर रहने वाले एक व्यक्ति की ओर से नियुक्त व्यक्ति 15 [योग्य प्रदेशों], या ऐसे व्यक्ति के साथ किसी भी व्यापार संबंध होने, या जिनके माध्यम से ऐसे व्यक्ति को किसी भी आय की प्राप्ति में है आयकर अधिकारी इस अधिनियम के सभी प्रयोजनों के लिए, इस तरह के एजेंट होने के लिए समझा जाएगा अनिवासी व्यक्ति के एजेंट के रूप में उसे इलाज के अपने इरादे का कार्य किया जा करने के लिए एक नोटिस कारण बना हुआ है जिस ब्रिटेन दलाल पर लाभ या लाभ:

19 [बशर्ते कि लेनदेन में एक दलाल के माध्यम से व्यापार के सामान्य पाठ्यक्रम में पर ले जाया जाता है, जहां 15 दलाल इस तरह के लेनदेन के संबंध में एक अनिवासी प्रिंसिपल की ओर से ब्रिटेन दलाल या पर सीधे बात नहीं है कि ऐसी परिस्थितियों में] [योग्य प्रदेशों लेकिन साधारण उसके कारोबार के दौरान और में ब्रिटेन दलाल इस तरह के लेनदेन पर ले जा रहा है, जो एक अनिवासी दलाल के साथ या के माध्यम से सौदों नहीं एक प्रधानाचार्य के रूप में इस तरह के पहले उल्लेख दलाल इस तरह के लेनदेन के संबंध में इस खंड के अंतर्गत एक एजेंट होने के लिए नहीं समझा जाएगा: ]

रेटिंग: 4.36
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 269
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *